Uttar Hamara logo

कौशल विकास के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश बना नम्बर 1

upnews.org_AY1

May 19, 2016

उत्तर प्रदेश के बेरोजगार लोगों को अब ज्यादा दिन रोजगार की तलाश नहीं करनी पड़ेगी। उत्तर प्रदेश सरकार कौशल विकास मिशन के अन्तर्गत जिस सफलता से काम कर रही है उसे देखते हुए तो ऐसा लगता है कि प्रदेश में अब कोई बेरोजगार नहीं रहेगा। युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस बात को समझा कि लोगों में अगर हुनर को विकसित किया जाए तो रोजगार मिलना कोई मुश्किल काम नहीं। कौशल विकास मिशन के अन्तर्गत उन्होंने यह कर के भी दिखाया।

यही वजह है कि पहले भारत सरकार और अब यूनेस्को ने भी उत्तर प्रदेश सरकार के कौशल विकास मिशन का लोहा माना है। हाल ही में फ्रांस की राजधानी पेरिस में उत्तरप्रदेश को कौशल विकास मिशन में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए यूनेस्को की ओर से सम्मानित किया गया। संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक संगठन यानी यूनेस्को संयुक्त राष्ट्र संघ की शैक्षिक इकाई है। जो दुनिया भर में शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति को बढ़ावा देता है।  यूनेस्को से पहले भारत सरकार ने भी स्किल डेवलपमेंट मिशन में बेहतरीन योगदान के लिए यूपी सरकार को सम्मानित किया है। इससे यह बात और पुख्ता होती है कि उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार युवाओं को हुनरमंद बनाकर उनके भविष्य के प्रति बेहद संजीदगी के साथ लगातार काम कर रही है।

मारुति सुजुकी बनाएगी युवाओं को कौशलयुक्त

maruti

उत्तर प्रदेश के युवाओं को अब नौकरी के लिए दूसरे राज्य नहीं जाना होगा। इसकी पहल करते हुए समाजवादी सरकार ने युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए एक और अहम पहल की है। यूपी सरकार ने मारुति सुजुकी के साथ एक एमओयू साइन किया है। कौशल विकास मिशन के तहत हुए इस करार के अंतर्गत 500 युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा।

युवाओं के भविष्य के प्रति संजीदा यूपी सरकार

????????????????????????????????????

मारुति सुजुकी के साथ एमओयू के मौके पर राज्य के कौशल विकास मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा कि राज्य सरकार युवाओं के भविष्य के प्रति संजीदा है। मारुति सुजुकी एक प्रतिष्ठित ब्रांड है, शहर से लेकर देहात तक हर जगह इसके सर्विस सेंटर हैं। लिहाजा यहां से प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। इस मौके पर मारुति सुजुकी के वाइस प्रेसिडेंट (ट्रेनिंग) मुकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि कंपनी पहले ही राज्य के 5 इंडस्ट्रियल इंस्टीट्यूट्स में ट्रेनिंग दे रही है। अब नए करार के तहत और भी ट्रेनिंग सेंटर खोले जाएंगे।

एचसीएल भी दे रही है ट्रेनिंग

मारुति सुजुकी से पहले राज्य सरकार ने प्रदेश के युवाओं को बेहतर बनाने के लिए देश की नामी कंपनी एचसीएल के साथ करार कर चुकी है। इसके तहत हजारों युवाओं को प्रशिक्षण देकर हुनरमंद बनाया जाएगा। लखनऊ स्थित चक गंजरिया में आईटी सिटी का निर्माण युद्ध स्तर पर हो रहा है। जहां एचसीएल अपना सेंटर स्थापित करेगी। वर्तमान में युवाओं को प्रशिक्षण देने का काम जारी है।

कौशल विकास नीति लागू करने वाला पहला राज्य

upnews.org_UNESCO

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है जहां कौशल विकास नीति लागू की गई है। साथ ही युवाओं को रोजगार हेतु प्रशिक्षित करने की दृष्टि से प्रदेश में कौशल विकास मिशन का गठन किया गया, ताकि युवाओं की रोजगार क्षमता एवं सेवायोजन योग्यता बढ़ाई जा सके। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मानना है कि औद्योगिक विकास के वर्तमान युग में भारत सहित विश्व के अधिकांश देशों में कुशल कामगारों की अत्यधिक मांग है और उस मांग के अनुरूप मानवशक्ति की आपूर्ति करना एक बड़ी चुनौती है। उत्तर प्रदेश, जहां सबसे अधिक संख्या में युवा रहते हैं, इस चुनौती को एक अवसर के रूप में स्वीकार कर युवाओं की बेरोजगारी की समस्या को दूर कर सकता है। इस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु प्रदेश की समाजवादी सरकार ’सबको हुनर, सबको काम’ नीति पर निरंतर कार्यशील रहकर 14 से 35 आयु वर्ग के अधिकाधिक युवाओं खासकर कम पढ़े-लिखे, बेरोजगार, अल्पसंख्यकों, अनुसूचित जाति के लोगों, महिलाओं और विकलांगजनों को रोजगारपरक कौशल प्रशिक्षण देकर हुनरमंद बनाते हुए देश-विदेश के जाॅब मार्केट में रोजगार दिलाने हेतु निरंतर प्रयासरत है।

2 लाख युवा हो चुके हैं प्रशिक्षित

व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री प्रो अभिषेक मिश्रा ने बताया कि मिशन के प्रारम्भ होने से अब तक लगभग 46 लाख युवाओं ने अपना पंजीकरण मिशन पोर्टल पर कराया है तथा 1769 प्रशिक्षण केन्द्रों द्वारा दो लाख युवा प्रशिक्षित किए जा चुके हैं तथा एक लाख प्रशिक्षणरत हैं। कौशल मिशन के तहत सेवादाता कंपनियों जैसे टेक महिन्द्रा एवं सेलेक्ट जाॅब्स, जावेद हबीब अकेडमी, ओला कैब्स, मिड मार्क काॅर्पोरेशन, जनक हेल्थ केयर मुम्बई, हैण्ड डिजाइन प्रालि आदि कंपनियों के साथ एमओयू का हस्तान्तरण किया गया है।

कौशल विकास के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश बना नम्बर वन

upnes.org_award

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश को कौशल विकास मिशन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा सर्वोत्तम राज्य के तौर पर पुरस्कृत कर चुकी है। ऐसोचैम द्वारा दिल्ली में आयोजित ‘समिट कम अवाड्र्स आॅन स्किलिंग इण्डिया-द वे फारवर्ड’ कार्यक्रम में केन्द्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्य मंत्री श्री राजीव प्रताप रूडी ने कौशल विकास के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश के कार्यों की तारीफ की और देश भर में उत्तर प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ राज्य चुना, जिसके आधार पर प्रदेश को पुरस्कृत किया गया है। राज्य की ओर से सचिव व्यावसायिक शिक्षा श्री भुवनेश कुमार और कौशल विकास मिशन के निदेशक श्री सुरेन्द्र सिंह ने पुरस्कार ग्रहण किया।

 

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news