Uttar Hamara logo

6 करोड़ पौधे लगा कर अपना ही वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ेगी यूपी सरकार

Photo_uttamup.com

Photo_uttamup.com

June 16, 2016

‘आज का युवा देश, कल का सबसे बूढ़ा देश भी होगा। इसके लिए हमें तैयार होना होगा।‘ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की यह चिंता उस समस्या को भी गहरे तौर पर रेखांकित करती है, जो मौजूदा दौर में पूरी दुनिया की समस्या बनी हुई है। जी हां, हम बात कर रहे हैं पर्यावरण की। विकास की दौड़ में अक्सर प्रकृति के साथ खिलवाड़ किया जाता है। निश्चित तौर पर यह बड़ी समस्या है। तो क्या इसका समाधान यह है कि विकास नहीं किया जाए? नहीं ना! तो फिर हल क्या है? हल यह है कि विकास कार्यों की सापेक्ष अधिक तादाद में पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रम चलाए जाएं। नई ऊर्जा, नई चेतना और नए जोश के साथ अखिलेश यादव ने जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की बागडोर संभाली थी तो पर्यावरण संरक्षण को लेकर उनके जवाब भी मिलते गए। ज्यादा दिन नहीं बीते जब एक ही दिन में उत्तर प्रदेश में दस जगहों पर 10 लाख से ज्यादा पौधे लगाने पर उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड से सम्मानित किया गया था। अखिलेश यादव इतने से कहां संतुष्ट होने वाले थे। सो, उन्होंने अब पूरे प्रदेश में 6 करोड़ पौधे लगाकर नया विश्व कीर्तिमान बनाने की ठानी है।

इन प्रयासों को देखते हुए लगने लगा है कि अखिलेश सरकार ने स्वच्छ पर्यावरण के लिए कमर कस ली है। क्लीन यूपी, ग्रीन यूपी का नारा देने के बाद अब उत्तर प्रदेश का यह फैसला प्रदेश की आबोहवा को शुद्ध करने की कोशिशों की ओर अहम पहल है। वहीं, एक दिन में 10 लाख पौधे लगाकर रिकॉर्ड बनाने और पॉलीथिन पर प्रतिबंध जैसे सख्त फैसले लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह साबित कर दिया कि वह वाकई इस दिशा में गंभीरता से काम कर रहे हैं। इस कड़ी में एक दिन में 6 करोड़ पौधे लगा कर रिकॉर्ड बनाने के लिए सरकार ने जुलाई का महीना निश्चित किया है । इसको लेकर मुख्य सचिव आलोक रंजन ने अधिकारियों को बाकायदा कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इतना ही नहीं, ग्रीन यूपी अभियान के तहत लक्ष्य को हासिल करने के लिए डीएम की अध्यक्षता में हर जिले में कमिटी गठित की गई है। वहीं, हर जिले में वह जमीन भी तय कर दी गई है जहां पौधे लगाए जाने वाले हैं। इस अभियान के तहत वन विभाग तीन करोड़, ग्राम्य विकास विभाग दो करोड़ और दूसरे विभाग एक करोड़ पौधे लगवाएंगे।

Photo_ flicker.com

Photo_ flicker.com

दो साल में बढ़ा 572 वर्ग किमी वन क्षेत्र

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की कोशिशों का ही नतीजा है कि उत्तर प्रदेश में 2013 से 2015 के बीच वनक्षेत्र में 572 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि दर्ज की गई है। वन अनुसंधान संस्थान देहरादून की इंडिया स्टेट फारेस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, देश भर में इस दौरान 5081 वर्ग किलोमीटर वनक्षेत्र की वृद्धि हुई है, जबकि इसका 10 प्रतिशत हिस्सा अकेले उत्तर प्रदेश में बढ़ा है। रिपोर्ट के मुताबिक, इलाहाबाद में पिछले दो वन क्षेत्र बढ़कर 21 हजार हेक्टेयर हो गया है।

akhilesh

सीएम अखिलेश की अगुवाई में लगाए जा चुके हैं 10 लाख पौधे

सीएम अखिलेश यादव ने इससे पहले पिछले वर्ष हमीरपुर के मौदहा बांध पर ग्रीन यूपी कैम्पेन का शुभारम्भ किया था। उस दौरान उत्तर प्रदेश में एक साथ 10 जगहों पर 10 लाख से ज्यादा पौधे लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया था। इस जगहों पर पीपल, नीम, जामुन, पाकड़, गूलर, शीशम, कांजी, आंवला, चिलबिल तथा इमली इत्यादि के पौधे लगाए गए थे।

ay on cycle1

प्रगति के साथ सीएम दे रहे पर्यटन को भी बढ़ावा

प्रकृति से लगाव मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पर्यावरण संरक्षण तक सीमित नहीं है, बल्कि इसके जरिये वह पर्यटन को भी बढ़ा दे रहे हैं। इस बार के बजट में भी उन्होंने पर्यावरण और पर्यटन के क्षेत्र में विकास को ध्यान में रखा है। सरकार की कोशिशों का नतीजा है कि विदेशी सैलानियों के लिए यूपी पंसदीदा जगह बनकर उभरा है। इसी क्रम में समाजवादी सरकार ने वन्य जीवन के संरक्षण और संवर्द्धन हेतु वन विभाग का नाम बदलकर वन एवं वन्य जीवन विभाग करने का निर्णय लिया है। साइकिल ट्रैक्स का निर्माण भी आम लोगों को यातायात का सुलभ मार्ग उपलब्ध कराने के साथ पर्यावरण से नुकसान से बचाना है।

 

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news