Uttar Hamara logo

सीएम अखिलेश के नेतृत्व में यूपी बन रही देश की दूसरी सबसे बड़ी इकॉनमी

blog image

2 September 2016

कहते हैं नेक इरादे और पक्के वादे हों तो मुश्किल से भी मुश्किल काम आसान हो जाते हैं। कुछ ऐसा ही करिश्माई नेतृत्व यूपी के सीएम अखिलेश यादव का रहा है। उन्होंने अपने दमदार इरादों के बूते आज यूपी को एक नई पहचान दी है। जिसका असर अब पूरे देश में दिखने लगा है। आज यूपी का नाम देश की दूसरी सबसे बड़ी इकॉनमी में दर्ज हो गया है। यूपी की आर्थिक स्थिति आर्थिक वर्ष 2016-17 में 10 फीसदी से ज्यादा बढ़ी है। ये बात एसोचैम की एक रिपोर्ट में सामने आई है।

एसोचैम ने एक अध्ययन में ये पाया कि उत्तर प्रदेश देश में काफी तेजी से विकास की ओर बढ़ रहा है। जिसमें इन्फ्रास्ट्रक्चर, इंडस्ट्री लगाने से लेकर सेवा और रोजगार सृजन के क्षेत्र में अभूतपूर्व तरक्की की है। यही नहीं सेवा क्षेत्र में पूरे देश की ग्रोथ रेट वित्तीय वर्ष 2013-14 में 4.7 फीसदी रही है। लेकिन वहीं यूपी की सेवा क्षेत्र में 8.1 फीसदी ग्रोथ रेट रही है।

बढ़ेगा रोजगार

एसोचैम के मुख्य सचिन डीएस रावत ने कहा है कि यदि मानसून ने साथ दे दिया तो यूपी की जीएसडीपी में 2 फीसदी की वृद्धि हो जाएगी। साथ ही ईज ऑफ़ बिज़नेस पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, जिससे रोजगार के क्षेत्र में रिकॉर्ड वृद्धि होगी।

क्या बोले सीएम

सीएम अखिलेश यादव नें इस रिपोर्ट पर कहा कि यूपी देश में सबसे बड़ा प्रदेश है और यहां के विकास से देश का विकास होता है। उन्होंने कहा कि यूपी सभी क्षेत्रों में तरक्की कर रहा है। अवस्थापना एवं औद्योगिक निवेश नीति सहित विभिन्न सेक्टरों की नीतियों के फलस्वरूप प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आई है। देश-दुनिया के निवेशक प्रदेश के विकास में भागीदारी के लिए आगे आए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि इसी गति से विकास दर में बढ़ोत्तरी जारी रहने पर आने वाले समय में राज्य कई प्रदेशों के लिए उदाहरण बनेगा।

यूपी को मिलेगा सब कुछ

सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि जिला मुख्यालयों को फोर लेन सड़कों से जोड़ने, लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जैसी योजनाओं पर तेजी से काम किया जा रहा है। यही नहीं प्रदेश सरकार बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए गंभीरता से प्रयास कर रही है।

बिजली उत्पादन में वृद्धि

यूपी ने अक्षय ऊर्जा से अगस्त 2017 तक 500 मेगावाट और 2022 तक करीब 10 हजार 697 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है। वर्तमान में सिर्फ 71 मेगावाट बिजली का उत्पादन यूपी कर रहा है।

यूपी में बढ़ा निवेश

यूपी में अब तक करीब 40 हजार करोड़ रुपए इन्वेस्ट करने के लिए अलग-अलग कंपनियों ने हस्ताक्षर किए हैं। इसमें अजूरे पॉवर कॉरपोरेशन ने 800 करोड़ रुपए, एक्मे पॉवर ने 250 करोड़ रुपए, एस्सेल ने 20 हजार करोड़, सोलर एनर्जी ने चार हजार करोड़, एनटीपीसी ने 100 करोड़ रुपए इन्वेस्ट करने के लिए हस्ताक्षर किए हैं।

निर्यात में दोगुने से अधिक वृद्धि

राज्य में निर्यात में भी दोगुने से अधिक की वृद्धि हो चुकी है।  वर्ष 2012 में 38 हजार करोड़ का निर्यात हो रहा था जो अब बढ़ कर 90 हजार करोड़ हो गया है।

पर्यटकों का पसंदीदा राज्य बना उत्तरप्रदेश

एसोचैम सोशल डेवलपमेंट फाउंडेशन द्वारा इयर एंड टूरिज्म ट्रेंड्स इन इंडिया (2015) के 26 दिसम्बर 2015 के अध्ययन के अनुसार उत्तर प्रदेश विश्व पर्यटन मानचित्र पर विदेशी सैलानियों का पसंदीदा राज्य बन गया है। उत्तर प्रदेश विश्व धरोहरों की मौजूदगी के साथ-साथ सुरक्षा के लिहाज से बेहतर और किफायती होने से नये साल की छुट्टियां मनाने के लिए आने वाले सैलानियों की पसंदीदा जगह है।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news