Uttar Hamara logo

रिकॉर्ड समय में गोमती रिवरफ्रंट बनाकर अखिलेश यादव ने लखनऊ को बनाया बेहद खूबसूरत

maxresdefault

पूरी दुनिया में लखनऊ की शाम और बनारस की सुबह मशहूर है। लेकिन अखिलेश यादव से पहले की सरकारों ने लखनऊ से निकलने वाली गोमती नदी के साथ सौतेला व्यवहार किया। जिसकी वजह से बीच शहर से गुजरने वाली गोमती नदी का आंचल मैला हो गया था। सीएम अखिलेश यादव ने गोमती के तट पर बसे लखनऊ को खूबसूरत बनाने का काम करते हुए पहले जनेश्वर मिश्र पार्क का निर्माण कराया। उसके बाद उनका पूरा ध्यान गोमती नदी को साफ़ और खूबसूरत बनाने पर लग गया। आज गोमती नदी के किनारे लखनऊवासी और बाहर से आने वाले लोग शाम में इसके रिवरफ्रंट का लुत्फ़ उठाते हैं। सीएम अखिलेश यादव ने गोमती नदी का विकास लन्दन की टेम्स नदी के नक्शेकदम पर किया है।

हालाँकि गोमती या देश की अन्य नदियां गंदी क्यों होती गयीं। उसका जवाब सीधा है कि लोगों की बेशुमार जरूरतों ने देश की नदियों को भी बदसूरत किया। नदियों की सफाई को लेकर कई पार्टियों ने राजनीति भी की, लेकिन सत्ता मिलने के बाद वह इसे चुनावी जुमला बताकर पल्ला झाड़ती नजर आयीं। इसका ताज़ा उदाहरण केंद्र की मोदी सरकार है। पीएम मोदी ने गंगा की सफाई की बात की थी। सरकार बनने के बाद उमा भारती को नदियों की सफाई के लिए मंत्री पद भी दिया गया। उमा भारती ने नमामि गंगे परियोजना को लांच किया। जिसके तहत 1200 करोड़ रुपये का बजट भी निर्धारित हुआ। लेकिन आज भी गंगा अपनी सफाई को तरस रही है। वहीं अखिलेश यादव ने युद्ध स्तर पर गोमती की सफाई को लेकर काम किया। आज गोमती रिवर फ्रंट बनकर तैयार हो गया है। जिसे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है।

4

परियोजना की खास बातें

  • नदी को निर्मल बनाने के लिए इसमें गिरने वाले 37 नालों के निकासी का इंतजाम किया गया। ताकि नालों के जरिए आने वाली गंदगी को रोका जा सके।
  • नदी में पानी बढ़ाने के उपायों का इंतजाम किया गया। साथ ही इसे चैनलाईज भी किया जा रहा है।
  • किनारों पर स्वच्छ एवं हरित पट्टी का विकास किया गया, ताकि शहर वासियों को स्वच्छ एवं स्वस्थ वातावरण मिल सके।
  • दुनिया का सबसे तेजी से तैयार होने वाला रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट आपको बता दें कि सिंगापुर रिवर फ्रंट को तैयार होने में तकरीबन 10 साल का वक्त लगा था।
  • परियोजना में 33 अलग-अलग प्रजातियों के 4 हजार पेड़ लगाए गए
  • गोमती रिवर फ्रंट में हर आयु वर्ग के लोगों के आकर्षण का ख्याल रखा जा रहा है बच्चों के लिए डिजनी ड्रीम शो, टॉरनेडो फाउंटेन्स और वॉटर थिएटर।
  • विदेशी सैलानियों के लिए 75 सीटर क्रूज बोट, पैदल पथ, जॉगिंग ट्रैक, साईकिल ट्रैक, लेक और ग्रीन बेल्ट का निर्माण कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news