Uttar Hamara logo

कोई छोटा न बड़ा, सबसे बड़ी मानवता

रायबरेली : वे दिलदार हैं। रिश्ते-नाते, अपना-पराया और छोटा-बड़ा। उनके लिए ये शब्द कोई मायने नहीं रखते। सिर्फ एक ही चीज वे जानते हैं। वह है मानवता। इंसानियत से ज्यादा कोई और बात उनके लिए अहमियत नहीं रखती। यह सोच है एनटीपीसी के 23 हजार अधिकारियो और कर्मचारियों की। मन में यही भाव लिए इन्होंने हादसे के पीड़ितों की मदद के लिए एक दिन का वेतन देने का निर्णय लिया है।

देशभर में नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनटीपीसी) की करीब 32 यूनिटें हैं। उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, वेस्ट बंगाल, मध्य प्रदेश, बिहार, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों में जल, कोल और ताप परियोजनाएं एनटीपीसी की लगी हुई हैं। इनमें तकरीबन 23 हजार अधिकारी और कर्मचारी काम करते हैं। एनटीपीसी की ऊंचाहार स्थित परियोजना की पांच सौ मेगावाट की नई इकाई में हुए हादसे ने इन्हें झकझोर कर रख दिया है। सभी ने अपनी एक दिन की तनख्वाह मृतकों के शोकाकुल परिवारीजनों और घायलों के इलाज के लिए देने का निर्णय लिया है। तीन अफसरों को छोड़कर शेष पीड़ित छोटे तबके के रोज कमाने और खाने वाले ठेका श्रमिक थे। मगर, इसका एनटीपीसी के इन दिलदार कामगारों के लिए कोई मतलब नहीं। व सिर्फ पीड़ितों की मदद करना चाहते हैं। फिर चाहे वह कोई भी हो। उनका मकसद सिर्फ लोगों का दु:ख दर्द बांटना और उन्हें सहारा देना भर है।

लगभग छह करोड़ होंगे एकत्र

विभागीय अफसरों का कहना है कि यह निर्णय एनटीपीसी के अफसरों व कर्मचारियों का अपना है। इससे करीब छह करोड़ रुपये जमा होने की उम्मीद है। इस धनराशि का संग्रह और खर्च कैसे होगा, इस पर विचार हो रहा है। सूत्रों की मानें तो अफसरों और कर्मचारियों की ही एक समिति बनाई जाएगी, जो इस आर्थिक मदद को एकत्र करेगी।

एनटीपीसी की सभी यूनिटों के अफसरों व कर्मचारियों न अपना एक दिन का वेतन देने का निर्णय लिया है। यह अधिकारियों व कर्मचारियों की अपनी सोच और अपने भाव पर है। इसकी जितनी सराहना की जाए कम है। हालांकि, इसकी अभी कोई अधिकारिक सूचना नहीं आई है। आदेश आने पर उसका पालन किया जाएगा।

-आरके सिन्हा, जीएम, एनटीपीसी ऊंचाहार

Source: Jagran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news