Uttar Hamara logo

महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ाएगा यूपी का ‘ऑपरेशन विश्वास’

empowered woman

Photo_ www.24hindinews.com

08 August, 2016

उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले वीमेन पावर लाइन 1090 के जरिये महिलाओं को सुरक्षा दी अब ऑपरेशन विश्वास शुरू कर उनका भरोसा जीतने की कवायद शुरू की है। ऑपरेशन  स्माइल, ऑपरेशन मुस्कान और ऑपरेशन  मिलन की सफलता के बाद यूपी पुलिस ने यह नई मुहिम शुरू की है। पांच अगस्त से एक माह के लिए शुरू किया गया यह ऑपरेशन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। इसके माध्यम से प्रदेश में जहां कानून-व्यवस्था सदृढ़ की जाएगी। वहीं महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान को स्थापित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। यह ऑपरेशन  लखनऊ जोन के सभी 11 जिलों में चलाया जाएगा।

empowered woman1

Photo_ www.uttamup.com

उत्तर प्रदेश में अखिलेश सरकार के गठन के बाद से ही महिलाओं के प्रति अपराधों की रोकथाम के लिए बेहद महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। वीमेन पावर लाइन 1090 इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। इतिहास देखें तो जहां पूरे देश में एक तरह के प्रयोग विफल रहे है, वहीं उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कुशल नेतृत्व का ही नतीजा रहा है कि इस योजना ने देशभर में सराहना पाई है। दूसरी ओर, गुमशुदा बच्चों की तलाश के लिए शुरू किए गए ऑपरेशन  स्माइल, मुस्कान और मिलन ने तो दुनिया भर में भारत का सिर गर्व से उंचा किया है। उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना को केंद्र सरकार ने न सिर्फ अंगीकार किया है, बल्कि इस्लामाबाद में आयोजित सार्क सम्मेलन में भारत के गृहमंत्री ने वहां महिला एवं बच्चों की सुरक्षा पर भी अपनी बात रखी और बताया कि कैसे भारत में ऑपरेशन स्माइल जैसी पहल के जरिए लापता बच्चों को बचाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि ऑपरेशन स्माइल की शुरुआत यूपी पुलिस ने गाजियाबाद से शुरू की थी। सितंबर 2014 में इस ऑपरेशन की नींव तब रखी गई जब तत्कालीन एसएसपी धर्मेंद्र सिंह की अगुवाई में गाजियाबाद पुलिस ने 51 बच्चों को बाल मजदूरी के चंगुल से बाहर निकाला था। उत्तर प्रदेश पुलिस की इस पहल को बाद में पूरे देश भर में लागू किया गया। अब ऑपरेशन  विश्वास के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस नया मुकाम हासिल करने ओर बढ़ रही है।

operation smile

Photo_twitter @IPS_Association

लखनऊ जोन के पुलिस महानिरीक्षक ए. सतीश गणेश की मानें तो ऑपरेशन  विश्वास के जरिए महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों के मामले में तत्काल कार्रवाई की जाएगी। इससे अपराध के खिलाफ कड़ा संदेश जाएगा और अपराधियों में कानून के प्रति डर का माहौल बनेगा। वहीं समाज में सकारात्मक भावना बलवती होगी।

हाल के कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश में हुए घटनाक्रम को देखते हुए भी यह ऑपरेशन  चलाया जाना बेहद आवश्यक था। घटना विशेष पर सकारात्मक व सार्थक राजनीति से परे विपक्षी ऐसा माहौल बनाने की कोशिश कर रहे थे कि पूरा उत्तर प्रदेश जैसे महिलाओं के लिए असुरक्षित हो गया है, जबकि एनसीआरबी रिपोर्ट देखें तो पता चलता है कि रेप के सबसे ज्यादा मामले भाजपा शासित राज्यों में हो रहे हैं। वहीं क्राइम रेट सबसे ज्यादा दिल्ली का है। वहां भी पुलिस पर नियंत्रण केंद्र सरकार के हाथों में रहता है। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार और यूपी पुलिस को बदनाम करने के कुचक्र को तोड़ने और महिलाओं में सुरक्षाभाव और आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए यह ऑपरेशन चलाया जाना बेहद अहम हो गया था।

 

empowered woman2

Photo_ world-businesstimes.com

महिलाओं में सुरक्षा एवं सम्मान की भावनाओं को सुदृढ़ करने के लिए एक माह तक आपरेशन विश्वास चलाया जाएगा। जिसके तहत लंबित विवेचनाओं के शीघ्र निस्तारण पर विशेष बल दिया जाएगा। योजना के तहत लंबित विवेचनाओं का शीघ्र निस्तारण, चिन्हित आरोपियों के विरुद्ध गुण्डा एक्ट की कार्रवाई होगी। अभियान के तहत रेप और छेड़छाड़ के आरोपियों को चिह्नित कर जेल भेजा जाएगा। ऐसे अपराधी जिनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है और वे जमानत पर छूटे हैं, उनकी गतिविधियों पर कड़ी निगाह रखी जाएगी। लंबित विवेचनाओं का 15 दिन के अंदर निपटारा किया जाएगा। इस आपरेशन से कानून के प्रति विश्वास बढ़ेगा। आईजी के अनुसार, लखनऊ जोन में पिछले सात महीनों के दौरान रेप के 400 आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे भेजा गया। वहीं 1148 शोहदे गिरफ्तार किए गए। दुराचार के 210 और छेड़छाड़ के 601 मामलों में चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की जा चुकी हैं।

आईजी ए. सतीश गणेश ने बताया कि ऐसे आपराधिक तत्वों जिनकी वजह से समाज में महिलाएं एवं युवतियां अपने आप को असुरक्षित महसूस करती है उनके संबंध में व्यापक स्तर पर निरोधात्मक कार्यवाही कराये जाने की तैयारी की जा रही है। जोन के सभी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों व पुलिस अधीक्षकों से अपेक्षा की जा रही है कि वह अपने जिलाधिकारी से संपर्क स्थापित कर चिन्हित गुण्डो के विरूद्ध जिलाबदर की कार्यवाही कराएंगे। उन्होंने कहा महिलायें और बेटियां बिल्कुल अपने आप को असुरक्षित महसूस न करें पुलिस उनके साथ है।

operation milan

अभी हाल ही में लखनऊ जोन के विभिन्न जनपदों में आपरेशन मिलन में चलाया गया था। इसके तहत ऐसी नाबालिग युवतियों जिनको बहला फुसलाकर ले जाया गया था। उनकी बरामदगी प्राथमिकता के आधार पर अभियान के दौरान की गई। लखनऊ जोन के विभिन्न जनपदों से अब तक 600 से अधिक ऐसी बच्चियों को न सिर्फ सकुशल बरामद किया गया बल्कि उन्हें उनके परिवारजनों से भी मिलवाया गया।

 

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news