Uttar Hamara logo

सुपर 30 से चमकेगें यू.पी. के मेधावी छात्र

Super-30बिहार के साधनहीन प्रतिभाशाली बच्चों को कोचिंग  के जरिये आई.आई.टी. में प्रवेश संभव बनाकर ‘सुपर 30’ पहले ही बहुत नाम कमा चुकी है। अब यह संस्था उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सहयोग से अपने इस मिशन को उत्तर प्रदेश में भी ले आई है। प्रदेश में सुपर ‘30’ के आगमन से राजकीय विद्यालयों के साधनहीन और प्रतिभाशाली छात्रों के भविष्य का संवरना तय हो गया है।

कैसे हुआ संभव ?
‘सुपर-30’ के आनंद कुमार ने फरवरी में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर यह प्रस्ताव दिया गया था कि यूपी के ज्यादा से ज्यादा ऐसे प्रतिभाशाली बच्चों का विधिवत चयन करके उन्हें आईआईटी प्रवेश परीक्षा में सफलता दिलवाने के लिए तैयार किया जाए। अखिलेश को यह प्रस्ताव पंसद आया और उनके निर्देश पर इसे अमली जामा पहनाया गया।

अखिलेश खुद ले रहें हैं रूचि
युवाओं को नए अवसर दिलाकर उनके भविष्य को संवारने वाले इस प्रोजेक्ट में युवा मुख्ष्यमंत्री विशेष रूचि ले रहें हैं। उन्होनें निर्देश दिया है कि गरीब बच्चों को ‘सुपर-30’ के जरिये एग्जाम की तैयारी कराई जाए। इसके लिए विशेष सचिव सीएम, मुथुकुमार स्वामी बी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

क्या होगी चयन प्रक्रिया
कोचिंग के लिए राजकीय विद्यालयों के 10वीं और 12वीं कक्षा के ऐसे छात्रों का चयन किया जाएगा, जो प्रतिभाशाली तो हैं, लेकिन आर्थिक अभाव के कारण आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने में समर्थ नहीं हैं। ‘सुपर 30’ उत्तर प्रदेश के 10 शहरों में प्रवेश परीक्षा के जरिए मेधावी छात्रों चयन करेगा। प्रवेश परीक्षा का आयोजन जून महीने में होगा।

इन केन्द्रों पर होगा आयोजन
प्रदेश में 10 सेंटरों पर ‘सुपर-30’ जून में प्रवेश परीक्षा आयोजित कराएगा। इसमें लखनऊ, इलाहाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, बरेली, झांसी, कानपुर, आगरा, मेरठ और मुरादाबाद शामिल है।

कैसे करें आवेदन?
प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए ‘सुपर-30’ की वेबसाइट www.super30.org पर आवेदन पत्र है, जिसे छात्र ऑनलाइन भर सकते हैं।

 

To Read More: Click Here

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news