Uttar Hamara logo

दसवीं-12वीं पास के लिए रेलवे में 2 लाख वैकेंसी!

बढ़ते ट्रेन हादसों से सबक लेते हुए इंडियन रेलवे ने अगले कुछ सालों में 2 लाख कर्मचारियों को नौकरी पर रखने का प्‍लान बनाया है. यह रिक्रूटमेंट रेलवे सेफ्टी और ग्राउंड पेट्रोलिंग को मजबूत करने के मकसद से कर रहा है. ऐसे कर्मियों की योग्‍यता सामान्‍य तौर पर 10वीं या फिर 12वीं होती है.

3 सालों में 650 लोगों की मौत  
इंडियन रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है, जिसमें लगभग 19,000 रेलगाड़ियां रोजाना चलती हैं, बावजूद इसके रेलवे सुरक्षा के मुद्दे को अभी भी गंभीरता से नहीं ले रहा है. आए दिन होने वाली ट्रेन दुर्घटनाएं कई तरह के सवाल पैदा करती हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 3 सालों में ट्रेन हादसों में कम से कम 650 लोगों की मौत हुई है.

करीब 16 फीसदी सेफ्टी पोस्ट खाली 

 खबरों के मुताबिक भारतीय रेलवे में निचले स्तर की करीब 16 फीसदी सेफ्टी पोस्ट खाली हैं जिसकी वजह से 64 हजार किमी के लंबे रेल नेटवर्क के मेन्टेनेन्स और पेट्रोलिंग में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. रेलवे के एक बड़े अधिकारी के मुताबिक अब जल्द ही रेलवे नेटवर्क की मेन्टेनेन्स और पेट्रोलिंग के लिए लोगों की भर्तियां करेगा. साथ ही, गैंगमैन को अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से ट्रेनिंग देने की योजना है. रेलवे 100 से अधिक ट्रैक निरीक्षण व्हीकल खरीदने की योजना भी बना रहा है.
ट्रैक पर क्रैक का पता लगाने के लिए नई टेक्नॉलजी का पायलट रन भी किया जाएगा
अधिकारी ने बताया कि एक सेंसर टेक्नॉलजी का पायलट रन भी किया जा रहा है जिसके जरिए ट्रैक पर हुए किसी भी क्रैक का पता लगाया जा सकता है. अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा से संबंधित कामों की फाइनेंशियल जरूरतों को पूरा करने के लिए रेलवे ने ‘राष्ट्रीय रेल संरक्षा कोश’ बनाने की घोषणा भी की है. साथ ही रेलवे ने ICF कोचों के उत्पादन को रोकने का भी फैसला किया है क्योंकि इन कोचों को सुरक्षा के माना जाता है. रेलवे की इन कोशिशों का हादसों को रोकने में कितना असर होता है ये तो अभी नहीं कहा जा सकता.
Source: News18
Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news