Uttar Hamara logo

सीएम अखिलेश यादव ने पेश्‍ ‌किया दूसरा अनुपूरक बजट

budget3_1454993013

 

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वित्त वर्ष 2016-17 का आम बजट 12 फरवरी को पेश करने के पहले गुरुवार को वित्त वर्ष 2015-16 का दूसरा अनुपूरक बजट पेश ‌किया। यह बजट 27, 75,89,786 रुपये के बीच है। इस बजट में बुंदेलखंड का खास खयाल रखा गया है। साथ ही लखनऊ मेट्रो के लिए अतिरिक्त पैसा दिया जाएगा।

सूत्रों ने बताया कि दूसरा अनुपूरक बजट सरकार तात्कालिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए लाई है। प्रदेश सरकार को केंद्र से ओलावृष्टि व सूखा प्रभावित किसानों की मदद के लिए सहायता मिल चुकी है।

राज्य सरकार के बजट में सूखा राहत के लिए मिले पैसे का प्रावधान न होने की वजह से इसका वितरण नहीं हो पा रहा है। इसके लिए करीब 2000 करोड़ रुपये की व्यवस्था की जा सकती है।

बिजली कंपनियों के बकाया का करीब 35 हजार करोड़ रुपये का बांड जारी करते हुए ऋणों का अधिग्रहण करना है। ‘उदय’ योजना के अंतर्गत केंद्र ने प्रदेश के लिए विशेष रूप से अतिरिक्त ऋण सीमा मंजूर की है।

चालू वित्तीय वर्ष में करीब 24 हजार करोड़ का बजटीय प्रावधान कर सरकार अगले वित्त वर्ष के लिए इस सीमा का अतिरिक्त बजट जुटा सकेगी। सहकारी बैंकों को लाइसेंस देने के लिए भी जरूरी बजट के प्रावधान की तैयारी है।

उप्र संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कारों को बांटने की कवायद फिर शुरू होती दिख रही है। बीते दिनों अकादमी के अध्यक्ष ने रुके हुए पुरस्कारों समेत कई अन्य कामों के लिए सरकार से 2.72 करोड़ का अनुपूरक बजट मांगा है।

2003 से 2008 तक के घोषित अकादमी पुरस्कार देने के लिए 60 लाख रुपये से अधिक की जरूरत है। हर जनपद में लोक कलाओं के प्रदर्शन के लिए 75 लाख रुपये चाहिए। छह अन्य मदों के लिए भी बजट की मांग हुई है।

इसमें मरम्मत समेत कई कार्य शामिल हैं। अकादमी के अध्यक्ष अच्छेलाल सोनी ने बताया कि कैंपस में कैंटीन और कॉफी शॉप भी खोली जानी है।

अकादमी के अध्यक्ष ने सरकार से मांगा अनुपूरक बजट
•पूरे प्रदेश में लोक कलाओं, नाटकों, कठपुतली और अन्य दृश्य कलाओं के प्रदर्शन पर व्यय के लिए 75 लाख रुपये। यानी, हर जनपद के लिए एक लाख
•छह वर्षों के अकादमी पुरस्कार बांटने के लिए 60.20 लाख
•अकादमी की क्षतिग्रस्त दीवार बनाने के लिए30 लाख
•वाल्मीकि व संत गाडगे जी प्रेक्षागृह में लाइट साउंड, स्टेज व कुर्सियों की मरम्मत के लिए22 लाख
•गेस्ट हाउस की मरम्मत पर व्यय 35 लाख
•अकादमी के अध्यक्ष व सचिव के लिए वाहन पर खर्च 35 लाख
•प्रेक्षागृह के सामने सुधार कार्य के लिए 15 लाख

कलाकारों को रुके हुए पुरस्कार दिए जा सकें और सूबे भर में प्रदर्शन के माध्यम से जनता तक लोक कला पहुंचे इन सबके लिए अनुपूरक बजट मांगा है। इसके अलावा अकादमी के दोनों हॉल को नया लुक देना है। साउंड रिकॉर्डिंग आदि के लिए भी प्रस्ताव भेजे गए हैं।
अच्छेलाल सोनी, अध्यक्ष, उप्र संगीत नाटक अकादमी

 

To Read More: Click Here

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news