Uttar Hamara logo

अखिलेश राज में UP वालों के आये अच्छे दिन, बढ़ी प्रति व्यक्ति आय

AY_Election_2017
लखनऊ.राजस्व व्यय का विकास के कार्यों में खर्च बढ़ता जा रहा है। इस बात का खुलासा प्रदेश सरकार की आर्थिक समीक्षा रिपोर्ट से हुआ है, जिसे रविवार को विधानसभा में पेश किया गया।
रिपोर्ट के मुताबिक अखिलेश सरकार आने से ठीक पहले यह खर्च जहां 51. 4 प्रतिशत था, साल 2013-14 में यह खर्च बढ़कर 54.7 प्रतिशत हो गया। इसके अगले साल यह खर्च 58.6 प्रतिशत हो जाने की उम्मीद है। अभी इसके अंतिम आंकड़े आने बाकी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रदेश सरकार राजस्व व्यय को इस तरह समायोजित कर रही है ताकि उसका अधिकांश उपयोग विकास कार्यों में किया जा सके।
जहां तक आमदनी की बात है तो इसमे सर्वाधिक योगदान वैट का है जो 59 प्रतिशत है। आमदनी में राज्य उत्पाद शुल्क की हिस्सेदारी 17 प्रतिशत व पंजीकरण शुल्क की हिस्सेदारी 16 प्रतिशत है। यही नहीं प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय बढ़ रही है। प्रदेश के प्रचलित भावों पर सालाना प्रति व्यक्ति आय हाल के सालों में बढ़ रही है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि खर्च का वहन करने के लिए कर्ज लेना बुरा नहीं है लेकिन उस कर्ज का उपयोग परिसम्पत्तियों के निर्माण में होना चाहिए। साल 2002-03 में लिए गए कर्ज का केवल 46 प्रतिशत ही पूंजीगत परिव्यय में उपयोग हुआ। इसका मतलब है कि कर्ज का आधे से ज्यादा हिस्से का उपयोग पूंजीगत कामों में नहीं हुआ। राज्य सरकार के प्रयासों से यह खर्च 200 प्रतिशत तक पहुंच गया।

 

To Read More: Click Here

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news