Uttar Hamara logo

उत्तर प्रदेश में गूंजा समाजवादी पार्टी-कांग्रेस संगठन का नया नारा

16602666_1733240033672305_7915440444879017443_n

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को उत्तर प्रदेश में कितनी सीटें मिलती हैं, यह तो वक्त बताएगा, किन्तु मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की जोड़ी ने भारत को एक नया नारा जरूर दे दिया है। रविवार को कानपुर में हुई कांग्रेस व समाजवादी पार्टी की संयुक्त सभा में ‘अखिलेश नहीं ये आंधी है, साथ में राहुल गांधी है’ नारे की धूम रही।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी 298 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, वहीँ कांग्रेस 105 सीटों में विजय पाने की कोशिश करेगी। परंतु कुछ इलाकों में दोनों चुनाव चिन्ह दिखाई देंगे। जैसे कानपुर की दस विधानसभा सीटों में से छह सीटें कांग्रेस व चार सीटें सपा को मिली हैं। इसके बावजूद वहां तीन सीटों पर साइकिल व हाथ का पंजा होगा। दरअसल आर्यनगर, कैंट व महाराजपुर सीटों पर सपा व कांग्रेस दोनों के प्रत्याशियों ने सिंबल के साथ नामांकन करा दिया था। बाद में कैंट व महाराजपुर सीटें कांग्रेस को मिलीं, किन्तु सपा प्रत्याशियों ने नाम वापस नहीं लिया। इसी तरह आर्यनगर सपा को मिली किन्तु कांग्रेस प्रत्याशी मैदान में डटे हैं। अब इस खींचतान के बीच रविवार को कानपुर में राहुल व अखिलेश की सभा हुई तो दोनों दलों का उत्साह देखने लायक था। पार्टी कार्यकर्ताओं ने न सिर्फ इस जोड़ी का जोरदार स्वागत कर यूपी को ये साथ पसंद है, नारे को चरितार्थ किया, बल्कि एक नारे से इस जोड़ी की अगवानी की। कांग्रेस-सपा कार्यकर्ताओं ने पूरी रैली के दौरान ‘अखिलेश नहीं ये आंधी है, साथ में राहुल गांधी है’ नारा लगाया।

as

दोनों नेता भी इस नारे से उत्साहित दिखे और अपने भाषणों में दोस्ती के बड़े-बड़े दावे किये। कार्यकर्ताओं का कहना था कि ये दोस्ती जरूर रंग लाएगी, बस प्रत्याशियों के स्तर पर हो रही खींचतान रुक जाए। इस दौरान अखिलेश ने मिल बैठकर आपस में मामला सुलझाने का दावा भी किया। वैसे कानपुर से चला नारा, अब प्रदेश की अन्य सभाओं में भी गूंजने लगा है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गंगोह स्थित आलमपुर रोड पर रैली को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अच्छा काम किया है। हमारा गठबंधन भविष्य का आइना है। भाजपा और आरएसएस के लोग उत्तर प्रदेश को तोडऩा चाहते हैं। भाई से भाई को लड़वाकर दंगा कराना चाहते हैं। गठबंधन का सारा फोकस विकास और रोजगार पर है।

उन्होंने कहा कि मोदीजी मेक इन इंडिया की बात कर रहे हैं, मेड इन चाइना बंद करने की बात कर रहे हैं, लेकिन नोटबंदी करके यहां के वुड कार्विंग इंडस्ट्री को बंद करा रहे हैं। नोटबंदी कर गरीबों व मजदूरों को तबाह कर दिया है। इस फैसले से लाखों लोग बेरोजगार हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश का युवा ही प्रदेश को बदल सकता है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सपा-कांग्रेस गठबंधन को जनता का समर्थन मिल रहा है। हमें भरोसा हो गया कि सूबे में एक बार फिर हमारी सरकार ही बनेगी।

16473454_1733240177005624_728111028747678602_n

उन्होंने कहा कि एक बार तो लगा कि साइकिल नहीं बचेगी पर वह बच गई, साथ ही भरोसा जताया कि जब साइकिल बच गई तो सपा और कांग्रेस के गठबंधन को मिल रहे प्यार के बदौलत सरकार आगे भी चलती रहेगी। पीएम मोदी पर वार करते हुए कहा कि उन्होंने नोटबंदी लागू करके लोगों की रोजी रोटी छीनने का काम किया।

इन सभी बातों से जनता सहमत नज़र आयी, उनमें जैसे जोश की एक लहर उठ गयी हो। उसी बीच एक बार फिर से ‘अखिलेश नहीं ये आंधी है, साथ में राहुल गांधी है’ का नारा गूँज उठा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news