Uttar Hamara logo

कानपुर मेट्रो से ट्रैफिक जाम से राहत मिलेगी, बदलेगी जिंदगी भी

 

kanpur-metro1

Image_ behance.net/

31 October 2016

अगर आप कभी कानपुर गए हों तो मेरा पूरा विश्वास है कि वहां आप ट्रैफिक जाम से दो-चार हुए होंगे। लेकिन क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि किसी दिन कानपुर एक-चौथाई गाड़ियां सड़कों से कम हो जाएं और करीब आधी जनसंख्या पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन से आए और जाए। अगर ऐसा हो तो भारत की इस औद्योगिक नगरी में जाना कितना सुखद होगा। तो निश्चिन्त हो जाइए, क्योंकि यह सपना अब हकीकत बनने जा रहा है। वह दिन दूर नहीं जब यहां  मेट्रो दौड़ने लगेगी।

कानपुर देश का 12वां सबसे बड़ी आबादी वाला शहर है। ऐसे में यहां यातायात की समस्याएं भी स्वाभाविक है, लेकिन इसका व्यापक असर औद्योगिक हब के रूप में स्थापित इस शहर पर भी बहुत गहरा है। इसे जहां लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित होती है, वहीं कारोबार, सेहत और पर्यावरण पर भी नकारात्मक असर पड़ रहा है। अब यहां कानपुर में  मेट्रो परियोजना ने दस्तक दे दी है। इस परियोजना का डीपीआर तो पहले ही मंजूर हो चुका है, जल्द ही यहां निर्माण कार्यों का आगाज हो जाएगा। इससे यहां के बाशिंदों को ट्रैफिक जाम से काफी हद तक राहत तो मिलेगी ही बल्कि उनकी जिंदगी पर भी इसका खूबसूरत असर दिखने वाला है।

kanpur-metro

Image_ http://www.kanpurmetrorail.info/

कानपुर में इस समय करीब 50 लाख गाड़ियां आरटीओ में रजिस्टर्ड हैं। इसमें करीब 50 हजार कारें और बाकि स्कूटर, बाइक और मोपेड या भारी वाहन हैं। आप सजह अनुमान लगा सकते हैं कि गाड़ियों की इतनी बड़ी संख्या होने से सड़कों पर कितना दबाव होता होगा।  मेट्रो का संचालन शुरू होने पर ये दबाव काफी हद तक कम हो जाएगा। अभी कानपुर में दो रूटों- आईआईटी कानपुर से नौबस्ता तक और कृषि विश्वविद्यालय-बर्रा-8 तक अभी मेट्रो दौड़ाने की तैयारी है। एक अनुमान के मुताबिक, सिर्फ इन दो रूटों पर ही  मेट्रो के संचालन से रोजाना 9 लाख लोग यातायात करेंगे। हर पांच मिनट में  मेट्रो के संचालन से  मेट्रो रूट पर आवागमन तो बेहतर होगा ही, शहर भर में सड़कों पर गाड़ियों का दबाव कम होने से वहां भी ट्रैफिक की समस्या दूर होगी।

आरटीओ कानपुर के आंकड़ों की पड़ताल करें तो यहां हर 50 हजार नई गाड़ियां सड़कों पर आ रही हैं। इससे प्रदूषण के स्तर में सालाना 0.5 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। इससे लोगों में तमाम तरह की बीमारियां भी सामने आ रही हैं। जबकि  मेट्रो पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल होगा। इस तरह इससे दोहरा लाभ होगा। पहला मेट्रो से प्रदूषण नहीं होगा और सड़कों पर गाड़ियां कम होंगी और जाम नहीं लगेगा तो गाड़ियों से जहरीला धुंआ भी कम निकलेगा।

kanpur-metro2

Image_ twitter

मेटो के संचालन से एक और बड़ा प्रभाव लोगों के जीवन पर पड़ेगा। ट्रैफिक जाम की समस्या से जहां लोगों को अपने आॅफिस या काम की जगहों पर जाने के लिए घंटे- दो घंटे पहले घरों से निकलना पड़ता है, वही  मेट्रो चलने के बाद उनके महत्वपूर्ण समय की बचत होगी। साथ-साथ पैसे की बचत भी होगी। इससे  बचे समय और पैसे को वे अपने परिवार और मित्रों पर खर्च कर सकेंगे। इससे भागदौड़ की जिंदगी में उनके पास सुकून के पलों में इजाफा होगा साथ ही साथ कार्यक्षमता भी बढ़ेगी। इस लिहाज से देखा जाए तो कानपुर  मेट्रो यहां के लोगों की जिंदगी में बड़े बदलाव की दस्तक दे रही है।

आइए इस बडे़ बदलाव की खासियत से भी दो-चार हो जाते हैं-

  • कानपुर मेटो परियोजना का प्रथम चरण में दो रूटों पर निर्माण होगा- आईआईटी कानपुर से नौबस्ता और कृषि विश्वविद्यालय से बर्रा-8 तक।
  • आईआईटी कानपुर से नौबस्ता रूट की लंबाई कुल 23.785 किलोमीटर होगी। इसमें 15.164 किलोमीटर मार्ग एलिवेटेड और 8.621 किलोमीटर मार्ग अंडरग्राउंड होगा।
  • आईआईटी कानपुर से नौबस्ता रूट पर कुल 22 स्टेशन बनाए जाएंगे। इसमें से 14 एलिवेटेड और 8 अंडरग्राउंड स्टेशन होंगे।
  • कृषि विश्वविद्यालय से बर्रा-8 तक की लंबाई कुल 8.600 किलोमीटर होगी। इसमें 4.190 किलोमीटर एलिवेटेड और 4.410 किलोमीटर अंडरग्राउंड होगा।
  • कृषि विश्वविद्यालय से बर्रा-8 तक कुल 9 मेटो स्टेशन होंगे। इसमें 5 एलिवेटेड और 4 अंडरग्राउंड होंगे।
  • कानपुर में मेट्रो टेन 1435 एमएम के स्टैंडर्ड गेज पर दौड़ेगी।
  • एक अनुमान के मुताबिक, 2021 तक इन दोनों रूटों पर करीब नौ लाख लोग रोजाना आवागमन करेंगे।
  • लखनऊ मेट्रो की तरह कानपुर  मेट्रो में सुरक्षा से व्यापक इंतजाम किए गए है। यहां भी  मेट्रो एडवांस बेस्ड ट्रेन कंट्रोल सिस्टम से लैस होगी।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news