Uttar Hamara logo

लंदन के टेम्स रिवर फ्रंट जैसा शानदार और भव्य हुआ लखनऊ में गोमती का किनारा

 

dji_0116_1

लखनऊवासी अब गोमती तट के भव्य और शानदार रूप का दर्शन कर सकेंगे। लखनऊ में गोमती नदी के तट को लंदन के टेम्स रिवर फ्रंट की तर्ज पर विकसित किया गया है। सीएम अखिलेश यादव के इस गोमती रिवर फ्रंट परियोजना का उद्घाटन करने के बाद इसे जनता के लिए खोल दिया गया है। इस परियोजना में हर आयु वर्ग के लोगों के आकर्षण का ख्याल रखा गया है। बच्चों के लिए डिजनी ड्रीम शो, टॉरनेडो फाउंटेन्स, वॉटर थिएटर, विदेशी सैलानियों के लिए 75 सीटर क्रूज बोट, पैदल पथ, जॉगिंग ट्रैक, साईकिल ट्रैक, लेक और ग्रीन बेल्ट का निर्माण कराया गया है। इसके अलावा क्रिकेट प्रेमियों के लिए गौस मोहम्मद क्रिकेट स्टेडियम भी बनाया गया है। आइए जानते हैं गोमती रिवर फ्रंट में क्या है खास और यह दुनिया के कई नदी तट परियोजनाओं से कैसे है अलग।

dji_0088_1

गोमती रिवरफ्रंट

  • नदी को साफ बनाने के लिए इसमें गिरने वाले 37 नालों की निकासी का इंतजाम किया गया है। ताकि नालों के जरिए आने वाली गंदगी को रोका जा सके।
  • नदी में पानी बढ़ाने का इंतजाम किया है, साथ ही इसे चैनलाईज भी किया गया है।
  • किनारों पर स्वच्छ एवं हरित पट्टी का निर्माण कराया गया है। ताकि शहर वासियों को स्वच्छ एवं स्वस्थ वातावरण मिल सके।
  • विश्वस्तरीय निर्माण के लिए वर्ल्ड लेवल के एक्सपर्ट्स का सहयोग लिया गया है।
  • 12 किमी लंबे डी-वाल्स का निर्माण कार्य निर्धारित समय से 3 महीने पहले पूरा किया जा चुका है। साथ ही 12 महीने में 16 किमी लंबे डी-वाल्स के निर्माण का लक्ष्य तय किया गया है।
  • सितंबर, 2017 तक नदी के समानांतर 27 किमी लंबे ड्रेन का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। 9 किमी लंबे इंटरसेप्टर का कार्य पहले ही पूरा कराया जा चुका है।
  • परियोजना में साईकिल ट्रैक, जॉगिंग ट्रैक और पैदल पुल का निर्माण पूरा करा लिया गया है।
  • परियोजना में 33 अलग-अलग प्रजातियों के 4 हजार पेड़ लगाए गए हैं।
  • रिवर फ्रंट के किनारे विकसित हो रहे हरित पट्टी को बाबा रामदेव और श्री श्री रविशंकर जैसे योग गुरुओं को लीज पर दिए जाने की तैयारी है ताकि ताकि यहां पर योग और अन्य धार्मिक और सांस्कृति कार्यों को बढ़ावा दिया जा सके
  • हरित पट्टियों पर नियमित रूप से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

vlcsnap-2016-11-16-17h28m20s7_1

 विश्व की कई परियोजनाओं से तेज तैयार हुआ है गोमती रिवर फ्रंट

  • गोमती रिवर फ्रंट दुनिया के कई रिवरफ्रंट परियोजनाओं से जल्दी तैयार कराया गया है। गौरतलब है कि सिंगापुर रिवर फ्रंट को तैयार होने में तकरीबन 10 साल का वक्त लगा था। जबकि गोमती रिवरफ्रंट 2 साल से भी कम समय में पूरा होने जा रही है।
  • कुआलालम्पुर, मलेशिया रिवर फ्रंट परियोजना पांच साल पहले शुरू हुई थी जिसे 2020 में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। परियोजना के लिए कुल 8 हजार करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान है।
  • गोमती रिवर फ्रंट में तैयार कराई गई डी वाल्स का निर्माण रिकॉर्ड टाइम में पूरा हुआ है।

– वृजनन्दन चौबे, गेस्ट राइटर

 

1 Comment

  • अखिलेश सरकार को कोटीशः धन्यवाद. आशा है कुछ ऐसी व्यवस्था की जायेगी जिससे यह सुन्दरता बरकरार रहे………२० वर्षों से लखनऊ नहीं गया………..एक बार देखने का मन तो हो ही गया………..गंदा जल इसके दूर-दूर तक न पहुंचे और नदी की बराबर dredging होती रहे जिससे गोमती आराम से बहे और इसके तट पर रहने वालों के लिए यह कभी भी कोई समस्या न बने……….हार्दिक अभिनन्दन और एक बार फिर से धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news