Uttar Hamara logo

उत्तर प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के आवाज बानीं डिंपल यादव

16665665_1292188130837769_4599211927163555671_o

चुनाव चाहे परधानी के हो या प्रधानमंत्री के, उत्तर प्रदेश में गजब के लहर चढ़ेला। वहीं मुख्यमंत्री के चुनाव में एकर रंग अउरो चोखा हो जाला। त उत्तर प्रदेश में तीन चरण के मतदान हो जावे के बाद जोश अ शोर दूनो बढ़ गइल बा। एक ओर बा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के विकास कार्य, त दूसरी ओर विपक्षी कौनों ना कौनों बहाना सेजाति-धर्म के बात कर जनता के भरमावे में जुटल बा। अखिलेश भइया त विपक्षी दलन के अपने विकास कार्य सेजवाब देत बानें, बाकि उनके धर्मपत्नी डिंपल यादव भी चुनाव में उनके साथ मजबूती से खड़ा बानीं।

16826041_1296846517038597_4550233031107569867_o

कहनाम हवे ना- पति-पत्नी एक अउर एक ग्यारह होला। एबार विधानसभा चुनाव में भी इ बात साफ दिखत बा। अखिलेश भइया अउर डिंपल भाभी सब विरोधियन पर एक अउर एक ग्यारह बनके भारी पड़त बानें। जहां ले डिंपल भाई के बात बा, त उ पहली बार पूरा प्रदेश में घूम-घूमके समाजवादी पार्टी के प्रचार करत बानीं। जनता से डिंपल यादव जइसे सीधा संवाद करेलीं ओसे विपक्षी बौखला गइल बानें। हालांकि ई सबसे बेपरवाह डिंपल यादव हर सभा में जनता से उत्तर प्रदेश खासकर औरतन की तरक्की के बात करेलीं। उ कभी बेटी, कभी बहू त कभी भाभी के रूप में जनता से सीधे जुड़ जालीं। शांत अउर गंभीर स्वभाव के डिंपल यादव ए चुनाव में अपने इहे खास अंदाज खातिर अलग पहचान बनावत बनीं। हर तीसरा से चौथा दिन उनके भाषण सुने के खातिर औरत, नौजवान, किसान के भीड़ जुटत बा।

16700329_1286917371364845_89698501060712778_o

राजनीति के बारे में कहल जाला कि इ क्षेत्र महिला के खातिर मुश्किल बा। लेकिन डिंपल यादव घर-परिवार के साथ संतुलन बनाके इ बात के गलत साबित कर देहले बानीं। महिला सशक्तिकरण के मुद्दा पर उ पहले भी आपन लोहा मनवा रहल बानीं। 2013 में फिक्की के कार्यक्रम में उनकर भाषण हो, चाहे लोकसभा में उन कर बात, डिंपल यादव हमेशा औरतन के बढ़वा देवेके अउर उनके मान-सम्मान-उत्थान के पैरवी करेलीं। अखिलेश सरकार में महिला के बेहतरी के जेतना काम भइल बानें ओकरे बारे में कहल जाला कि ओहमे डिंपल यादव के सोच ही रहल। ए बार समाजवादी पार्टी के घोषण पत्र बनावे में उनके बड़ा भूमिका रहल बा। घोषणा पत्र में कामकाजी औरतन खातिर हॉस्टल के बात चाहे प्रेशर कुकर देवे के वादा अउर लइका-बच्चन खातिर घी-दूध के इंतजाम, इ सब बात उनके ही देन बा।

16797496_1297166133673302_487191209829512407_o

डिंपल यादव के सादगी उनके जनता से जोड़े में मदद करला। त गंभीर स्वभाव उनके जिम्मेदार बतावे ला। चुनाव भाषण में भी डिंपल यादव बेबुनियादी बात नहीं कहेलीं। बल्कि हमेशा मुद्दा के बात रखेली। सवाल-जवाब के अंदाज में उ सीधे जनता से संवाद करेलीं। उनके नजदीकी लोग बतावे ला कि डिंपल यादव गंभीर त बटले बानीं, अंदर से बहुत मजबूत भी हईं। चुनौती चाहे जइसन हो उ कबो डगमगाली नाहीं। अउर सादगी अइसन कि साधारण से साधारण आदमी उनसे मिले के बाद इ नाही कह सकेला कि उ एतना बड़ा राज्य के मुख्यमंत्री की पत्नी बानीं।

16587288_1286685964721319_5158938333862528419_o

बात चुनाव के चलत बा त उनके रैली के चर्चा बिना अधूरा बा। इलाहाबाद में पिछला दिन डिंपल यादव के नया अवतार देखल गइल। सौम्य अउर शालीन अंदाज में दिखे वाली डिंपल यादव प्रधानमंत्री मोदी अउर बसपा सुप्रीमो मायावती पर जोरदार हमला कर लीं। भाजपा के अच्छा दिन पर डिंपल यादव पुछलीं कि मन की बात करे वाला लोग काम के बात कब करिहें। दूसरा ओर बसपा सरकार के लूट-खसोट पर बोललीं कि एक सरकार जनता के लाइन में लगइलस तो दूसरा ने हाथियन के लाइन में खड़ा कइले के काम कइलस। बाकि उत्तर प्रदेश में विकास के एक्को काम नहीं कइलस। जबकि समाजवादी पार्टी के सरकार में विकास के एतना काम भइल कि उत्तर प्रदेश के चेहरा संवर गइल। वहीं महिला सशक्तिकरण के वकालत में उ वादा करले लीं कि उत्तर प्रदेश में दोबारा समाजवादी पार्टी के सरकार बने पर महिलावन के सरकारी नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण दिहल जाई तो साथे-साथ नौकनियन से महिलावन के खातिर उम्र के सीमा भी खतम कर दिहल जाई। इ सब बात से त इ साफ हवे कि जहां अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में विकास के सूत्रधार बन गइल बानें त डिंपल यादव भी एह राजनीति के नई दिशा देवे में उनकरे संग कंधा से कंधा मिलाकर चलत बानीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news