Uttar Hamara logo

इन योजनाओं से श्रमिकों के चेहरों पर सीएम अखिलेश ने लायी ख़ुशी

24

03 February 2017

कोई देश कोई प्रदेश कितनी तरक्की कर रहा है वो इस बात पर निर्भर करता है कि वहां के किसान और मजदूर किस हाल में है? उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार ने अपने शासनकाल के दौरान ऐसी कई सारी योजनायें चलाई हैं जिससे गरीब मजदूरों का जीवन बदल रहा है, अब उन्हें भूखे पेट नहीं सोना पड़ता, अब उन्हें बहुत कम दामों में भर पेट भोजन उपलब्ध है, और सम्मान के साथ जीवन बिता लेने को पेंशन। ये सब न तो भाजपा के समय हुआ था और न ही बसपा के समय में। आइये जानते हैं कुछ ऐसी ही योजनाओं के बारे में जिससे मजदूर आज खुश हैं-

24c

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 1 मई यानि अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के पंजीकृत श्रमिकों  के लिए पेंशन योजना का उद्घाटन किया और  साइकिल सहायता योजना के अंतर्गत साईकिल वितरण किया। राज्य की समाजवादी सरकार ने मजदूर दिवस ‘श्रमिकों के साथ, प्रदेश का विकास, समाजवादी सरकार का यही प्रयास’ नारे के साथ  मनाया। उन्होंने मजदूरों के लिए 10 रुपये में मध्यान्ह भोजन योजना का शुभारम्भ किया गया। जिसका पाइलेट प्रोजेक्ट, लखनऊ से शुरू हुआ है। खुद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसकी शुरूआत करते हुए श्रमिकों के साथ बैठकर भोजन किया। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होनें कहा कि इस योजना का लाभ श्रमिकों को मिलेगा और इससे उन्हें 10 रुपये में भरपेट भोजन उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने कहा कि इससे जहां निर्माण श्रमिकों की कार्यकुशलता में बढ़ोतरी, वहीं उनका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। इस योजना से लखनऊ में 10 रुपये में मजदूरों की भोजन की थाली मिलने लगी है।

24a

मजदूरों की मदद के लिए प्रदेश सरकार द्वारा साइकिल सहायता योजना लागू की गई। कामगारों को अपने घर से कार्य स्थल तक आने-जाने की सुविधा उपलब्ध कराने की दृष्टि से ही उन्हें मुफ्त साइकिलें प्रदान की गयीं। इस योजना का लाभ बड़ी संख्या में मजदूरों को मिला है और अब तक प्रदेश में 4 लाख से अधिक साइकिलों का वितरण किया जा चुका है। मजदूरों की कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश की समाजवादी सरकार द्वारा श्रमिकों को पेंशन देने की योजना की शुरुआत की गई। इसके तहत 60 वर्ष की आयु पूरी कर चुके लाभार्थी को 1,000 रुपए प्रति माह की पेंशन के प्रयास हुए ।

24b

प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री शाहिद मंजूर की मानें तो वर्षो- वर्षो के बाद श्रम दिवस को  इतने भव्य तरीके से मनाना और इतनी योजनाओं की शुरुआत करना मुख्यमंत्री की बड़ी सोच का ही असर था। शाहिद मंजूर ने कहा कि उत्तर प्रदेश  में समाजवादी पार्टी के कार्यकाल के दौरान मजदूरों का पलायन लगभग बंद हो गया है। ये इस बात का संकेत है कि अखिलेश सरकार में हर वर्ग की तरक्की और उनकी बेहतरी का ख्याल रखा गया है। ये बातें अखिलेश यादव को दूसरे नेताओं से खास बनाती हैं।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news