Uttar Hamara logo

हर घर शिक्षा की रोशनी, हर बेटी को सुरक्षा व सम्मान देने का सीएम अखिलेश का ब्लू प्रिंट तैयार

Uttar Pradesh state chief minister Akhilesh Yadav addresses a gathering in Lucknow, India, Tuesday, Feb. 25, 2014. Yadav inaugurated 17 projects and laid the foundation stone of 26 others. He also distributed loan waiver certificates to 7,017 farmers, according to local reports. (AP Photo/Rajesh Kumar Singh)

23 January   2017

सीएम अखिलेश यादव खुद युवा हैं। इसलिए युवाओं की जरूरतों को समझते हैं। उन्हें पता है कि कि युवाओं की सबसे बड़ी जरूरत है अच्छी शिक्षा, कुशल प्रशिक्षण और रोजगार। इसीलिए उन्होंने इस दिशा में सबसे ज्यादा ध्यान दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मानना है कि समाज की तरक्की शिक्षा पर निर्भर है। उनका लक्ष्य है कि उत्तर प्रदेश का प्रत्येक बच्चा, स्कूली-छात्र-छात्राएं और युवा अच्छी से अच्छी शिक्षा हासिल करें। ऐसे में अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में प्राथमिक, माध्यमिक, तकनीकि और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में ढेरों काम किये हैं। वास्तव में यह कहा जा सकता है कि अखिलेश यादव छात्र-छात्राओं के सपनों में कामयाबी के रंग भर रहे हैं। अब वे युवाओं को विकास के नये दौर में ले जाने का ब्लू प्रिंट भी तैयार कर चुके हैं। रविवार की समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र के जरिये उन्होंने जनता के सामने रखा।

नौनिहालों और नौजवानों की शिक्षा पर जोर देते हुए एक बार फिर उन्होंने इस दिशा में नए जोश और ऊर्जा के साथ आगे बढ़ने के संकेत दिए हैं। पार्टी के घोषणा पत्र में अखिलेश यादव ने सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में उच्च स्तर की गुणवत्ता की शिक्षा सुनिश्चित करने के कई इंतजाम करने का वादे किये हैं। इन्होने विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को वाई-फाई युक्त बनाने का ऐलान किया है। जबकि इससे पहले उन्होंने 18 लाख से ज्यादा युवाओं को फ्री लैपटॉप देकर सूचना प्रौद्योगिकी के नए दौर से परिचित कराया था। अखिलेश यादव ने मेधावी छात्र-छात्राओं को मुफ्त लैपटाप वितरण योजना को पहले की तरह चालू रखने ही घोषणा की है। वहीं निम्न आय वर्ग के मेधावी छात्र-छात्राओं की उच्च शिक्षा हेतु खास स्कालरशिप योजना लाने की बात कही है। निर्धन परिवारों के बच्चों को प्रतिष्ठित निजी विद्यालयों में प्रवेश की व्यवस्था करायी जायेगी।

SP_EM7

प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हेतु मिशन चलाया जायेगा, जिससे बच्चों की शिक्षा में और सुधार किया जा सके। मिड-डे मील योजना में सुधार लाकर बच्चों को पौष्टिक भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित करने की बात भी समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में की गयी है। इसके अलावा सभी सरकारी इन्टर कॉलेजों में शिक्षकों की उपलब्धता और आवश्यक सुविधाओं जैसे फर्नीचर, लेबोरेटरी तथा शौचालय की व्यवस्था की जायेगी ताकि उनकी शिक्षा की गुणवत्ता में और सुधार हो। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में बच्चों को सूचना एवं प्रौद्योगिकी के माध्यम से उच्च गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध करायी जायेगी। अखिलेश यादव ने एक वर्ष के भीतर ही प्रदेश के सभी राजकीय शैक्षिक संस्थानों में शिक्षकों के  सभी रिक्त पदों को भरने का भी ऐलान किया है। इसके अलावा प्रदेश के सभी मण्डल मुख्यालयों पर नवोदय विद्यालय की भांति समाजवादी अभिनव विद्यालय स्थापित किए जाएंगे।

आज की युवा पीढ़ी की सबसे बड़ी आकांक्षा रोजगार की है, जिससे वह अपने और अपने परिवार का सम्मान से भरण-पोषण कर सके। इसे ध्यान में रखते हुए घोषणा पत्र के माध्यम से अखिलेश यादव ने ऐलान किया है प्रदेश सरकार युवाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए स्किल डेवलपमेंट के साथ-साथ इन्टरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट और स्टार्ट-अप की व्यापक योजनाएं लायेगी।

वहीं खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य से सम्बंधित खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण और रोजगार के लिए आर्थिक प्रोत्साहन दिया जायेगा। खेलकूद के क्षेत्र में मेधावी छात्रों को प्रोत्साहित और प्रशिक्षित करने हेतु आवासीय पद्धति पर ‘समाजवादी स्पोर्ट्स स्कूल’ की स्थापना की जायेगी। तो पांच क्षेत्रीय स्तर पर गुणवत्तापरक खेलकूद केन्द्र स्थापित किये जायेंगे।

SP_EM6

दूसरी ओर छात्रों और महिलाओं की बेहतरी के लिए भी अखिलेश यादव जनता के सामने नई योजनाओं के साथ पहुँच रहे हैं। मैनिफेस्टो में बताया गया है कि कक्षा 9 से 12 तक अध्ययनरत् छात्राओं को निःशुल्क साइकिल उपलब्ध करायी जायेगी। तो ग्रामीण क्षेत्रों में मेधावी छात्राओं को सोलर टेबल लैम्प उपलब्ध करायी जाएगी।  इसके अलावा कामकाजी महिलाओं हेतु शहरों में छात्रावासों का निर्माण कराया जायेगा। महिला स्वरोजगार को प्रोत्साहन देने के लिए कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध किया जाएगा। महिलाओं के लिये निःशुल्क ई-रिक्शा की व्यवस्था करायी जायेगी। महिलाओं की आत्मरक्षा के लिए प्रदेश के हर जिले में सुरक्षा प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित किये जायेंगे। इतना ही नहीं सभी जिलों में महिला थाना की स्थापना की जाएगी या उनका निर्माण कराया जायेगा। महिला उत्पीड़न एवं दुष्कर्म के प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के लिए प्रत्येक जिले में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना की जाएगी।

स्वास्थ्य को लेकर युवतियों के मेंस्ट्रुअल हाइजीन को सुनिश्चित करने हेतु ग्रामीण  क्षेत्रों में निशुल्क सेनेटरी नैपकीन पीएचसी/सीएचसी केन्दों के माध्यम से वितरित किये जायेंगे। वहीं मुफ्त एम्बुलेंस 102 सेवा को बढ़ाया जायेगा। हौसला पोषण मिशन की व्यवस्था को पहले की तरह ही चालू रखने का भी ऐलान अखिलेश यादव ने किया है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 वुमेन पावर लाईन तथा रानी लक्ष्मीबाई अवार्ड योजना को बढ़ाया जाएगा। अनाथ कन्याओं/विकलांगों/पति की मृत्यु के उपरान्त निराश्रित महिलाओं से विवाह करने पर दो लाख रूपये की प्रोत्साहन धनराशि एवं निःशुल्क आवास की सुविधा दी जायेगी। सभी महिलाओं को रोडवेज बसों में यात्रा करने पर आधे किराये की छूट दी जायेगी। वूमेन पॉवर लाइन 1090 का विस्तार सभी जनपदों में किया जाएगा।

इस तरह से अखिलेश यादव ने यह बताने के प्रयास किये हैं कि उनकी अगली सरकार का सरोकार भी युवाओं और महिलाओं का उत्थान होगा। निश्चित तौर पर ये योजनायें प्रदेश क्वे विकास को नया आयाम देंगी, क्यों की आबादी के लिहाज से युवाओं और महिलाओं की भागीदारी सबसे ज्यादा है तो स्वाभाविक है की उनका उत्थान हुआ तो पूरे प्रदेश का विकास भी तय है।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news