Uttar Hamara logo

महिलाओं की सशक्त कर देश, प्रदेश और समाज का भविष्य उज्जवल बनाने को आतुर सीएम अखिलेश 

SP_EM9

समाजवादी सरकार ने पांच वर्षों के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। विकास के साथ सामाजिक सद्भाव की धारा को मजबूत किया गया है और लोकतांत्रिक मूल्यों की स्थापना के साथ आर्थिक विषमता और क्षेत्रीय असंतुलन को दूर करने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए गए हैं। जनकल्याण की तमाम योजनाओं के कार्यान्वयन के नए कीर्तिमान स्थापित हुए हैं। किसानों, नौजवानों, अल्पसंख्यकों, निर्धनों, श्रमिकों, अधिवक्ताओं, व्यापारियों, महिलाओं सहित समाज के सभी वर्गों में अखिलेश यादव के प्रति विश्वास मजबूत हुआ है। जहां तक महिलाओं के कल्याण के कार्यक्रम की बात है तो इस दिशा में उल्लेखनीय कार्य किए गए हैं। 1090 वूमेन पाॅवर लाइन की सफलता जहां महिला सुरक्षा और सम्मान की शानदार गवाही है, वहीं समाजवादी पेंशन योजना और लोहिया आवास योजना से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने का काम किया गया है। निर्धन आय वर्ग के परिवारों की बेटियों को उच्च शिक्षा की सुविधा देने के लिए कन्याविद्याधन योजना कारगार रूप से क्रियांवित की गई। वहीं अल्पसंख्यक समुदाय के गरीब परिवारों की बेटियों के विवाह के लिए हमारी बेटी उसका कल योजना से उनका भविष्य संवारने की दिशा में अखिलेश सरकार ने कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है।

SP_EM11

एक बार फिर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी महिलाओं और युवतियों की बेहतरी के लिए नई योजनाओं के साथ तैयार है। पार्टी का घोषणा पत्र में महिलाओं के कल्याण वाली योजनाओं को खास तबज्जो दी गई है। जहां छात्राओं की शिक्षाओं को बढ़ावा देने के वादे हैं, वहीं पेंशन योजनाओं को दायरा बढ़ाए जाने की बात कही गई है। घोषणा पत्र में कई अहम घोषणाएं की गई हैं। आइए सिलसिलेवार पता लगाते हैं कि समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में महिलाओं की बेहतरी के लिए क्या-क्या बातें रखी गई हैं–

फ्री साइकिल और सोलर लैंप

अखिलेश यादव ने छात्राओं की शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए अपनी पार्टी के मैनिफेस्टो में कक्षा 9 से 12 तक की  छात्राओं को फ्री साइकिल देने का वादा किया है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली मेधावी छात्राओं को सोलर टेबल लैम्प देने की बात कही है। इस योजना से छात्राओं को एक तरफ जहां स्कूल जाने में सहूलियत मिलेगी, वहीं सोलर लैंप से उन्हें घर में भी पढ़ाई करने में सुविधा होगी। सोलर लैंप दिए जाने से ग्रामीण परिवार बिजली की अतिरिक्त बचत भी कर सकेंगे।

विशेष स्काॅलरशिप और बस सेवा

समाजवादी पार्टी का प्रयास है कि निर्धन परिवारों की मेधावी बेटियों की शिक्षा में कोई बाधा नहीं आए। इसे ध्यान में रखते हुए अखिलेश यादव ने निर्धन मेधावी छात्र-छात्राओं की उच्च शिक्षा हेतु स्काॅलरशिप की एक नयी योजना चलाने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं उन्होंने घोषणा पत्र के माध्यम से विभिन्न विश्वविद्यालयों और काॅलेजों तक छात्राओं को पहुँचाने के लिये विशेष बस सेवा शुरू करने की बात भी कही है।

SP_EM12

स्कूलों में शौचालय की व्यवस्था

स्कूलों की छात्र और छात्राओं के लिए अलग शौचालय की व्यवस्था बालिका शिक्षा के लिए बेहद जरूरी पाया गया है। अखिलेश यादव ने इसका महत्व समझते हुए अपने घोषणा पत्र में सभी सरकारी इन्टर कॉलेजों में शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित करने की बात कही है। उनका भी मानना है कि शौचालय की उपलब्धा से बेटियों की शिक्षा की गुणवत्ता में और सुधार हो सकेगा और स्कूलों में उनकी उपस्थिति भी बढ़ेगी। इसके अलावा अल्पसंख्यक परिवारों की बेहतरी के लिए उन्होंने प्रदेश में पढ़ें बेटियां, बढ़ें बेटियां योजना जारी रखने की घोषणा की है। वहीं उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में पीएचसी और सीएचसी के माध्यम से निःशुल्क सेनेटरी नैपकीन वितरित करने का भी वादा किया है।

कामकाज को बनाएंगे आसान

घोषणा पत्र में कामकाजी महिलाओं हेतु शहरों में छात्रावासों का निर्माण कराने की घोषणा की गई है। वहीं महिला स्वरोजगार को प्रोत्साहन देने के लिए कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध करने की बात भी कही गई है। इसी क्रम में महिलाओं को निःशुल्क ई-रिक्शा देने का वादा भी किया गया है। दूसरी ओर महिलाओं को बड़ी सहूलियत देते हुए उत्तर प्रदेश रोडवेज की बसों में किराए में आधे के छूट देने का आश्वासन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दिया है।

महिला कल्याण की दिशा में बढ़ा कदम उठाते हुए समाजवादी पार्टी ने सामाजिक उत्थान को भी बड़ा जरिया बनाया है। पार्टी ने अनाथ कन्याओं, विकलांगों और ऐसी महिलाओं जो पति की मृत्यु के बाद निराश्रित जीवनयापन कर रही हैं, उनके विवाह के लिए समाज के जागरूक युवकों को प्रोत्साहित करने की योजना बनाई है। ऐसी युवतियों से विवाह करने वाले युवकों को सरकार दो लाख रुपये प्रोत्साहन धनराशि देगी। इसके साथ ही निशुलक आवास की सुविधा भी दी जाएगी।

SP_EM14

महिला सुरक्षा होगी सुनिश्चित

अखिलेश यादव ने सदैव ही महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान का ख्याल रखा है। इस बार भी पार्टी के घोषणा पत्र के जरिए उन्होंने इसका विस्तार किया है। घोषणा पत्र के माध्यम से अखिलेश यादव ने बताया है कि प्रदेश में दोबारा उनकी सरकार आने पर महिला सुरक्षा को दिशा में नो टाॅलरेंस की नीति को अपनाया जाएगा। महिला उत्पीड़न एवं दुष्कर्म के प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के लिए प्रत्येक जिले में फास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना की जाएगी। वहीं महिलाओं और युवतियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जाएगी। इसके लिए प्रत्येक जिले में सुरक्षा प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित किये जायेंगे। प्रदेश के सभी जिलों में महिला थाना का भी निर्माण कराया जाएगा। तो वूमेन पॉवर लाइन 1090 का विस्तार सभी जनपदों में किया जाएगा। महिलाओं की सुरक्षा हेतु विषेश सर्तकता योजना बनाई जायेगी।

सेहत संवारने के इंतजाम

108 और 102 एंबुलेंस सेवाओं की सफलता किसी से छिपी नहीं है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में अखिलेश यादव की सरकार ने पिछले पांच वर्षों में ऐतिहासिक काम किए हैं। घोषणा पत्र के माध्यम से उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं की विभिन्न जनकल्याणकारी योजना के विस्तार का ऐलान किया है। अगली सरकार में मुफ्त एम्बुलेंस 102 सेवा को बढ़ाया जायेगा। हौसला पोषण मिशन की व्यवस्था चालू रखी जायेगी। वहीं महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 वुमेन पावर लाईन तथा रानी लक्ष्मीबाई अवार्ड योजना को बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा 108 एम्बुलेंस की संख्या बढ़ाकर उनमें ‘‘मोबाइल एडवांस लाईफ सपोर्ट सिस्टम’’ तथा ‘‘मोबाइल मेडिकल यूनिट’’ की सुविधा प्रदान की जायेगी। इससे स्वास्थ्य सेवाएं और बेहतर होंगी। दूसरी ओर अस्पतालों में महिला नर्सों की संख्या में वृद्धि की जायेगी।

SP_EM6

हुनर को सलाम

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मानना है कि अल्पसंख्यकों के पास बेमिसाल, पारम्परिक हुनर मौजूद हैं। उनको बढ़ावा एवं विकसित करने हेतु समाजवादी सरकार चिन्हित क्षेत्रों में कुशल प्रशिक्षण केंद्र (एक्सीलेंस सेंटर) खोलेगी। दरअसल इस क्षेत्र में ज्यादा महिलाएं जुड़ी हैं तो स्वाभाविक तौर पर इस योजना से उनका लाभ होगा। इसके अलावा उन्होंने समाजवादी पेंशन योजना तथा अन्य पेंशन योजनाओं का दायरा बढ़ाकर एक करोड़ परिवारों को लाभ देने का लक्ष्य रखा है। वहीं पेंशन की राशि में बढ़ाकर एक हजार रुपये की मासिक करने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बेसहारा और निराश्रित महिलाओं के कल्याण के लिए एक और बड़ी घोषणा अपने मैनिफेस्टो में की है। पति की मृत्यु के बाद निराश्रित महिलाओं, विकलागों, वृद्धजनों हेतु यूपी रोडवेज की बसों में निःशुल्क यात्रा की व्यवस्था की जाएगी।

इन बिंदुओं से साफ है मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के विकास में महिलाओं की तरक्की को बेहद खास मानते है। इसी लिए प्रदेश के समग्र विकास का जो खाका उन्होंने तैयार किया है, उसमें बेटियों, युवतियों और महिलाओं को विशेष मान, सम्मान और स्थान दिया गया है।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news