Uttar Hamara logo

सीएम अखिलेश ने लिखी यूपी के विकास की गौरव गाथा

4

उत्तर प्रदेश में नई विधानसभा गठित करने का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। इसी के मद्देनजर सभी राजनीतिक दलों से जुड़ी पार्टियों ने विधान सभा चुनाव के महासमर में अपना दांव आजमाने के लिए तरह-तरह के पैंतरे आजमाकर चुनावी इलाकों में अपनी ताल ठोकना शुरू कर दी हैं। उत्तर प्रदेश की हुकूमत पर राज करने वाले तमाम राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों ने विकास के नाम पर ही अब तक आम जनता का वोट हासिल कर यूपी पर हुकूमत का ताज पहनने का काम बखूबी किया है। लेकिन जनता के वोटों की ठगी कर जीत का परचम लहराने वाले तमाम जिम्मेदारों ने यूपी का कितना विकास किया ये किसी से छुपा नहीं है।

इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं कि आजादी के 70 सालों के बाद अगर किसी ने विकास की गौरव गाथा लिखने का काम कर दिखाया है तो वो एक मात्र चेहरा सिर्फ समाजवादी सरकार के मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ही हैं। इनका नाम आमजन की जुबान पर सबसे पहले आता है। यूपी की हुकूमत पर राज करने का सबसे बड़ा फार्मूला यही है कि जनता के दिलों पर राज करना जरूरी है। ऐसा किये बिना किसी भी पार्टी के राजनेता का सपना कभी पूरा हो ही नहीं सकता। इस नजरिये से अगर देखा जाये तो किसी भी राजनीतिक दल के पास समाजवादी कुनबे से जुड़े प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के मुकाबले कोई भी चेहरा दूर तक नहीं दिख रहा। यूपी पर हुकूमत का सपना देखने वाले सभी राजनीतक दल विकास के नाम पर जनता का वोट बटोरने का सपना संजो रहे हैं, लेकिन समाजवादी युवा नेता अखिलेश यादव डंका पीटने के बजाय विकास का खाका खीचने में जुटे हुए हैं। जिस तरह उत्तर प्रदेश में विकास की गंगा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लगातार बहाने का काम कर रहे हैं इस बात से साफ़ आकलन किया जा सकता है कि आगामी दिनों में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान तमाम विरोधी दल चुनावी अखाड़े में करारी शिकस्त के बाद धूल में पटखनी खाते दिखाई नज़र आएंगे।

इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि इसी कड़ी में सीएम अखिलेश यादव ने बसों से सफर करने वाली आम जनता की सुविधा का ख्याल रखते हुए तुरुप के पत्ते की तरह इन सुविधाओं का तोहफा दिया है। मतलब समाजवादी पार्टी के मुखिया ने उत्तर प्रदेश के मतदाताओं को लुभाने की फेहरिस्त में एक और नया तुरुप का पत्ता विकास की श्रृंखला में फेंक दिया है।

बात यातायात सुविधाओं मी करें तो उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) ने इस बार दीवाली से पहले यात्रियों को ऐसा बड़ा तोहफा दिया, जो पहले किसी सरकार ने नहीं किया। परिवहन निगम ने एयरकंडीशनर (एसी) वॉल्वो बसों में फ्री वाईफाई की सुविधा देनी शुरू की। प्रथम चरण में पांच वॉल्वो बसों के यात्रियों को इस सुविधा का लाभ दिया गया। इन पांच बसों में चार लखनऊ से दिल्ली और एक बहराइच से अजमेर रूट की वॉल्वो बसें हैं। इसके अलावा 10 अन्य एसी बसों में भी फ्री वाईफाई की सुविधा शुरू की गयी। लखनऊ के चारबाग से बहराइच से चलकर अजमेर जाने वाली वॉल्वो बसों में यात्रियों को रिलायंस 4 जी की फ्री वाईफाई की सुविधा मिल रही है।

 

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news