Uttar Hamara logo

यूपी के तीन करोड़ किसानों को सीएम अखिलेश ने दी बीमा सुरक्षा

 75000 रुपये अधिकतम वार्षिक आय वालों को भी मिलेगा मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना का लाभ

farmer_india wave

Photo_ indiawave.com

July 07, 2016

एक ओर देश के विभिन्न राज्यों से जहां किसानों के विषम परिस्थितियों में जान देने की खबरें आती रहती हैं, उसी वक्त पर उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गरीबों खासकर छोटी जोत या भूमिहीन किसानों के लिए आर्थिक सुरक्षा का पर्याय बन कर उभरे हैं। जी हां, हम बात कर रहे उत्तर प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना की। इस योजना के माध्यम से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी के किसानों के साथ ही किसी भी व्यवसाय से जुड़े ऐसे लोगों को मदद देने का रास्ता तैयार किया है, जो भूमिहीन हैं या जिनकी अधिकतम सालान आय महज 75000 रुपये है।

1913668_1059021177451679_7040189571357976497_n

Photo_ www.uttamup.com

कृषक दुर्घटना बीमा योजना की जगह आई नई स्कीम

इस योजना के माध्यम से कृषकों की दुर्घटना की स्थिति में उनकी मृत्यु पर, विकलांगता की स्थिति में या इलाज के लिए सरकार की ओर से आर्थिक मदद उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। दरअसल इस योजना को लागू करने के पीछे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मंशा यह है कि विषम परिस्थितियों में किसानों की आर्थिक मदद हो सके, जिससे उनका सशक्तिकरण हो। यहां यह जान लेने भी उचित है कि यह योजना पहले से चली आ रही ‘कृषक दुर्घटना बीमा योजना’ की जगह लागू की गई है। पहले संचालित कृषक दुर्घटना बीमा योजना का लाभ प्रदेश के उन किसानों को मिल रहा था जिनके नाम राजस्व विभाग के अभिलेखों यानी खतौनी में दर्ज थे, जबकि नई मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना का लाभ खतौनी में दर्ज किसानों के साथ ही उन किसानों को भी दिया जा रहा है जो भूमिहीन हैं या जिनकी सालाना आय 75,000 रुपये से कम है।

’कृषक दुर्घटना बीमा योजना’ के जहां अभी तक लगभग 16,524 लाभार्थी लाभ उठा चुके हैं, वहीं नई योजना से 3 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य है, जिसमें कृषक दुर्घटना बीमा योजना के लाभार्थी भी शामिल हैं। साथ ही इस योजना से निवास प्रमाण-पत्र लिए जाने की अनिवार्यता को भी हटा दिया गया है।

samajwadi-kisan-bima

पूर्ण विकलांगता पर भी 5 लाख का मुआवजा

पहले ‘कृषक दुर्घटना बीमा योजना’ के अंतर्गत किसान की मृत्यु की स्थिति में अधिकतम 5 लाख रुपये का अनुदान दिया जाता था, लेकिन सरकार में नई योजना लाकर बीमा आवरण मृत्यु के अलावा पूर्ण विकलांगता में भी 5 लाख रुपये कर दिया है। इतना ही नहीं अगर कोई हादसा होता है तो दुर्घटना के बाद चिकित्सा की स्थिति में 2.5 लाख रुपये और जरूरत पड़ने पर सरकार एक  लाख रुपये तक कृत्रिम अंग उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी करेगी।

farmer_upnews

Photo_ upnews.org

दुर्घटना प्रदेश में या प्रदेश के बाहर, सभी को मिलेगा लाभ

राजस्व विभाग के अनुसार कृषक दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2014-15 में 855 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था। जबकि कुल 16,254 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। संशोधित योजना में व्यवस्था की गई है कि बीमित व्यक्ति की प्रदेश में या प्रदेश से बाहर दुर्घटना होने पर फौरी तौर पर उसे नजदीक के किसी भी चिकित्सालय में इलाज पर व्यय का भुगतान बीमा कम्पनी द्वारा किया जाएगा। अगर प्रदेश के बाहर दुर्घटनावश मृत्यु होती है तो उसके आश्रितों को और विकलांग होने की दशा में भी उसे योजना का लाभ मिलेगा।

Ckfx3NrW0AAOQCU-700x525

योजना के क्रियांवयन से दिया रोजगार

पुरानी योजना में यह व्यवस्था थी कि जनसुविधा केन्द्रों के माध्यम से समाजवादी केयर कार्ड बनाए जाएगा, लेकिन नई योजना में संशोधन करते हुए यह प्रावधान किया गया है कि शिक्षित बेरोजगार को ‘समाजवादी बीमा मित्र’ बनाकर उनके माध्यम से भी कार्ड बनवाए जाएंगे और उनका उपयोग प्रचार-प्रसार में भी किया जाए। यह भी व्यवस्था की गई है कि बीमा कम्पनियों को इस योजना के तहत जो प्रीमियम प्राप्त होगा, उसका दो फीसदी उन्हें प्रचार-प्रसार पर व्यय करना होगा, जिससे योजना के सम्बन्ध में अधिक से अधिक लोगों को जानकारी मिल सके।

वहीं, लाभार्थी, एम्बुलेन्स, पुलिस स्टेशन, अस्पताल और बीमा कम्पनी के बीच पूर्व से संचालित मुख्यमंत्री बैंकिंग एवं बीमा हेल्पलाइन-‘1520’ के माध्यम से इस तरह इंटरफेस किया जाएगा, ताकि दुर्घटना की स्थिति में तत्काल एम्बुलेन्स एवं थाने को सूचना हो सके। यह यूनिट 24 घंटे क्रियाशील रहेगी। बीमा कराने वाला व्यक्ति जिस तिथि को बीमा के प्रीमियम का भुगतान करेगा, पालिसी उस तिथि से एक साल के लिए मान्य होगी। उसके बाद हर साल इसका रिन्यूवल किया जाएगा। अखिलेश सरकार ने इस योजना को मिशन मोड में लागू कर किसानों में न सिर्फ सुरक्षा का भाव मजबूत किया है, बल्कि हादसे की स्थिति में भी ऐसे परिवारों को खुद के दम पर खड़ा होने की मजबूती भी प्रदान की है।

 

उत्तर हमारा

2 Comments

  • Dharmendra says:

    Good job bhaiya ji

  • धर्मेन्द्र मलिक says:

    मा०मुख्य मन्त्री जी को बहुत बहुत बधाई किसान बिमा बहुत जरुरी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news