Uttar Hamara logo

सीएम अखिलेश यादव के ये काम दोबारा बना सकते हैं उन्हें मुख्यमंत्री

41b

विधानसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियां ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं। विपक्षी दल सरकार की कमियों को धार देकर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं तो वहीं सत्तारूढ़ सपा अपनी उपलब्धियों के रथ पर सवार होकर जनता दरबार में दस्तक देगी। आइए जानते हैं यूपी की अखिलेश सरकार की दस बड़ी उपलब्ध्यिों के बारे में-

 गांव-गांव, घर-घर में पहुंचाया लैपटॉप

यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने 11 मार्च 2013  को अपनी सरकार का सबसे बड़ा चुनावी वादा पूरा करते हुए राजधानी लखनऊ से बहुप्रतीक्षित लैपटॉप वितरण योजना शुरू की थी। राजधानी के काल्विन तालुकेदार कॉलेज में इस योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश ने 50 पात्र छात्र-छात्राओं के बीच लैपटॉप वितरित किया था। कार्यक्रम के दौरान 10 हजार छात्र-छात्राओं को लैपटॉप वितरित किए गए। इस योजना के तहत जल्द ही अन्य जिलों में भी लैपटॉप वितरण शुरू किया गया और लाखों छात्रों को इस योजना का लाभ मिला।

पर्यावरण की रक्षा के लिए उठाया बड़ा कदम, बनाया रिकॉर्ड

अखिलेश यादव ने 8 नवम्बर 2015 को हमीरपुर पहुंचकर 200 करोड़ की ‘ग्रीन यूपी क्लीन यूपी’ योजना की शुरुआत की थी। मौदहा में स्वामी ब्रह्मानंद बांध (मौदहा बांध) पर सीएम ने पौधा लगाया था। इस दौरान एक दिन में एक साथ 10 जगहों पर पौधारोपण किया गया। इसमें एक साथ 10 लाख से अधिक पौधारोपण करने पर यूपी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया। इसके बाद 11 जुलाई 2016 को प्रदेश में 24 घंटे के भीतर कुल 6161 जगहों पर 5 करोड़ से ज्यादा बना कर अपना ही वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया।

41

अखिलेश राज में यूपी हुआ पोलियो मुक्त

दशकों से पोलियो का दंश झेल रहा यूपी आखिरकार पोलियो मुक्त हो गया। यूपी के पोलियो मुक्त होने पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसकी सफलता का श्रेय सही रणनीति, लाखों कार्यकर्ताओं के कठिन परिश्रम, प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के समग्र प्रयासों, उत्तर प्रदेश सरकार के दृढ़ संकल्प तथा जनता के सहयोग को दिया।

देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे यूपी में

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के हाथों 23 नवम्बर 2014 में करवाया था। 302 किलोमीटर का यह एक्सप्रेस-वे देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे है। यह पूरा प्रोजेक्ट 11526.73 हजार करोड़ रुपये का है।  दिसंबर 2016 से इस पर गाड़ियाँ भी दौड़ने लगी हैं।

यह परियोजना आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, कानपुर नगर, उन्नाव, हरदोई और लखनऊ जिले से होकर निकली है । एक्सप्रेस-वे में छह लेन डिवाइडेड कैरिजवे, मुख्य यातायात मार्गों के लिए इंटरचेंजेज, पैदल यात्रियों और पशुओं के लिए अंडरपासेज, सर्विस रोड और ग्रीन बेल्ट का प्रावधान किया गया है। साथ ही, सडक़ के दोनों ओर दो-दो स्थलों पर विश्राम गृह, पेट्रोल पंप, सर्विस सेंटर और भोजनालय आदि का भी प्राविधान परियोजना में किया गया है। इसका निर्माण पांच पैकेजों में हुआ है।

जल्द फर्राटा भरेगी लखनऊ मेट्रो

लखनऊ मेट्रो अखिलेश सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है। यूपी की राजधानी में बढ़ रही यातायात की समस्या से लोगों को निजात दिलाने व पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधाओं को बेहतर करने के मद्देनजर अखिलेश सरकार का यह कदम बेहद सराहनीय है। इस परियोजना के पहले चरण की अनुमानित लागत 6928 करोड़ रुपये है।  परियोजना फेज 1 के तहत चौधरी चरण सिंह हवाई अड्ïडे से मुंशी पुलिया तक (22.878 किलोमीटर) मेट्रो दौड़ाने की योजना है। इस दूरी में 22 स्टेशन होंगे। इस परियोजना पर आने वाले 6928 करोड़ रुपये के कुल खर्च में केंद्र सरकार 1300 करोड़ की आर्थिक मदद देगी जबकि बाकी अखिलेश सरकार वहन कर रही है। इस चरण के मेट्रो का ट्रायल रन हो चुका है। मार्च से मेट्रो दौड़ने भी लगेगी।

41a

‘पढ़े बेटियां बढ़े बेटियां’ से गरीब लड़कियों के सपनों को लगे पंख

अखिलेश सरकार ने पिछले साल अक्टूबर में गरीब तबके की बेटियों के लिए ‘पढ़े बेटियां, बढ़ें बेटियां’ नामक योजना शुरू की थी। इस योजना के अंतर्गत सभी वर्गों की बीपीएल परिवार की हाई स्कूल/समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण एवं आगे की कक्षाओं में अध्यनरत छात्राओं को प्रोत्साहन रूवरूप 30,000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

समाजवादी पेंशन योजना से 55लाख परिवारों को मिला लाभ

अखिलेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के ऐसे गरीब परिवारों, जिनके पास आय के उपयुक्त साधन नहीं हैं, के जीवन यापन, आर्थिक एवं सामाजिक उन्नयन के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के उद्ïदेश्य से ‘समाजवादी पेंशन योजना’ के नाम से योजना की शुरुआत की। इस योजना के तहत परिवार के मुखिया को न्यूनतम 500 रुपए प्रतिमाह ई-पेमेंट के माध्यम से धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी। समाजवादी पेंशन योजना द्वारा प्रदेश स्तर पर 55 लाख परिवारों के तहत प्रत्येक परिवार के एक लाभार्थी को लाभान्वित किया जा रहा है।

108 एंबुलेंस सेवा से मिली लोगों राहत

अखिलेश यादव यूपी में महत्वाकांक्षी टोल फ्री आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा ‘108’ की शुरूआत की। ‘समाजवादी स्वास्थ्य सेवा’ के नाम से शुरू इस आपातकालीन सेवा के अंतर्गत टोल फ्री 108 नंबर डायल करने पर प्रखंड स्तर पर एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध है। 24 घंटे की इस आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा के लिए लखनऊ के आशियाना में कॉल सेन्टर स्थापित किया गया है।

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

इस योजना में गरीबी की रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवार के मुख्य जीविकोपार्जन करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर 30,000 रुपये की एक मुश्त सहायता दिए जाने की व्यवस्था है।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news