Uttar Hamara logo

काम न करना ही पीएम मोदी का सबसे बड़ा कारनामा : अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज यानी गुरुवार को बलिया जिले में चुनावी रैलियां की। बलिया में सीएम ने बेलथरा, सिकंदपुर, बैरिया, बांसडीह, बलिया नगर, फेफना और रसड़ा में जनसैलाब को संबोधित किया। सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, ”काम न करना ही पीएम मोदी का सबसे बड़ा कारनामा है। अगर वह हमारी सड़क पर चल लें, उसके बाद वह हमें ही वोट देंगे। हम जमीन पर काम करके दिखाते हैं। पीएम बस मन की बात करते हैं। नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा पैसों का हिसाब पीएम को देना चाहिए।”

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बलिया के बेलथरा रोड में जनसभा को संबोधित किया

 

  • पहले चरण का चुनाव प्रचार जब हमने शुरू किया था, तब कड़ाके की सर्दी पड़ रही थी। अब गर्मी बढ़ गयी है। बीजेपी और बसपा के लोग इस गर्मी से घबराये हुए हैं।
  • मोदी जी उत्तर प्रदेश में लगातार घूम रहे हैं, लेकिन हम तो सिर्फ उनसे कालेधन का हिसाब मांग रहे हैं। कम से कम हिसाब तो दें। तमाम लोगों की जान चली गयी। सिर्फ समाजवादी लोगों ने लोगों की मदद की।
  • हम मोदी जी से कहते हैं, गाजीपुर में कौन सा काम किया, अगर किया है तो खजांची के गाँव में बैठकर हिसाब-किताब कर लें। हम समाजवादी लोग कहते हैं कि बहुत हो गयी मन की बात कब करोगे काम की बात।
  • मोदी जी कहते हैं यूपी में नकल होती है, लेकिन जिस मंच से वह ये बात कह रहे थे। उसी मंच पर सबसे बड़े नक़ल माफिया उन्हीं की पार्टी के हैं वह बैठे हुए थे।

  • पत्थर वाली सरकार लम्बा भाषण पढ़ती हैं, जनता उनकी रैलियों में डेढ़ दो घंटे सोती है। उन्होंने जिन्दा पर ही अपने शरीर को पत्थर बना लिया है। साथ ही नगदी वाला बैग भी उनका पत्थर का है।
  • बलिया में सबसे ज्यादा सड़क हमने बनाई है। ठेका दिलाने वाले चले गये अब, उनकी जोड़ी भी बन गयी है। बुआ के यहां गये होंगे जिनके सामने वह रेंगते हुए गये होंगे। बिना नगदी के वह टिकट नहीं देती हैं।
  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से बेहतरीन सड़क बीजेपी के किसी भी सीएम ने नहीं बनाई है। हम मोदी जी से कहते हैं कि एक बार आप उस सड़क चलकर देख लें, दावा है हमारा आप भी साइकिल का बटन दबा देंगे।
  • मोदी जी मेट्रो में बैठना चाहते हैं, हम कहते हैं, रेल मंत्रालय हमें एनओसी दे तो हम उन्हें मेट्रो में घुमा देंगे।
  • कोई काम नहीं करना ही, प्रधानमंत्री जी का कारनामा है। मोदी जी ने बलिया के लिए कोई भी एक काम किया हो तो बता दें। यूपी 100 और समाजवादी एम्बुलेंस सेवा भी हमारी है। बीजेपी ने क्या किया है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बलिया के फेफना-रसड़ा में रैली को संबोधित किया

  • हवा विपरीत हो तब भी समाजवादी नौजवान साइकिल चला लेते हैं और जब हवा हमारे पक्ष में चल रही है तो सोचो कि हमारी साइकिल कितनी तेज़ चलेगी।
  • नोटबंदी से लाइन में लगे कई लोगों की जान चली गई। किसी ने मदद नहीं की। तब हम समाजवादी लोगों ने उनके परिवार वालों को दो-दो लाख रुपये देकर मदद की।
  • प्रधानमंत्री जी, इस प्रदेश की जनता ने लोकसभा में आपको सबसे ज्यादा सांसद दिए। आपने इस प्रदेश के लिए तीन साल में जो काम किया हो, वो बता दीजिए। हम पांच साल के अपने काम बता देते हैं।
  • आज अख़बारों में आपने पढ़ा होगा, प्रधानमंत्री जी जूस के चक्कर में पड़े हैं। हमने तो सड़कें बनाईं, पुल बनाए, एम्बुलेंस चलाई। प्रधानमंत्री जी, आपने कोई सड़क-पुल बनवाई हो या कोई एम्बुलेंस चलवाई हो तो बता दीजिए।

  • पत्थर की सरकार पर कौन भरोसा करेगा? उन्होंने जीते जी अपनी मूर्तियाँ लगवा लीं। कहने को तो वो मेरी बुआ हैं, लेकिन बीजेपी से कभी भी रक्षाबंधन मनवा सकती हैं। पहले भी वे तीन बार रक्षाबंधन मनवा चुकी हैं।
  • बसपा में जो भी जाता है वो नगदी देकर टिकट पाता है और जो वहाँ घुटनों के बल जाता है, उसे ही टिकट मिलता है। याद रखिएगा, साइकिल तो आप कहीं रख सकते हैं, लेकिन हाथी कहाँ रखेंगे?
  • हमने बलिया में गंगा नदी पर पुल बनाया और पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर जी के नाम पर यूनिवर्सिटी बना रहे हैं। इस यूनिवर्सिटी को हम और बेहतर बनाएंगे।

  • हम गरीबों के लिए राशन की व्यवस्था सुधारने के हर इंतजाम करेंगे, जिसे सभी गरीब परिवारों को राशन मिल सके। वहीं एक भी गरीब महिला नहीं बचेगी,  जिसे हम समाजवादी पेंशन न दे दें। अभी तो 500 रुपये दे रहे थे, अब हम हर माह 1000 रुपये देंगे।
  • फेफना की जनता से हमारा ये रिश्ता एक दिन का नहीं है। हम जब तक राजनीति करेंगे, फेफना की मदद करते रहेंगे।

सीएम अखिलेश यादव की रैली का वीडियो देखें:

सांसद डिंपल यादव ने आजमगढ़ के मुबारकपुर में जनसभा को संबोधित किया 

  • जनता का हौसला देखकर लग रहा है कि इस बार लोग समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को बड़ी संख्या में वोट देकर जिताना चाहते हैं और अपने अखिलेश भईया को दोबारा मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं।
  • आजमगढ़ की जमीन से हम समाजवादियों का खून का रिश्ता है। आप लोगों ने नेता जी और अपने अखिलेश भईया का हमेशा साथ दिया है।
  • हम आजमगढ़ में पहिला बेर आइल हईं। हम इहाँ के पतोहू हईं। हमके आप लोगन के आशीर्वाद चाही। अपने भईया के फिर से मुख्यमंत्री बनावे के जिम्मेदारी आप लोगन के बा।
  • बीजेपी की सरकार में सिलेंडर के दाम लगातार बढ़े हैं। सिलेंडर का दाम 400 रुपये से बढ़कर अब तो 800 रुपये हो गया। आजमगढ़ में किसी को सिलेंडर मिला हो या नहीं, लेकिन हम समाजवादी लोग हर गरीब महिला को प्रेशर कूकर देंगे।

  • हार के डर से विपक्षियों की भाषा बदल गई है। विकास की भाषा बोलना छोड़कर वे लोग अब कुछ और बोलने हैं। बीजेपी वालों को चुनाव में पिछड़ने की सूचना मिल चुकी है, इसीलिए उनकी बोली भी बदल गई है।
  • विपक्षी दलों का कोई नेता यहाँ नहीं आएगा, क्योंकि उन्हें पता है कि आजमगढ़ की धरती समाजवादियों की धरती है। हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि विकास के मामले में हम आजमगढ़ को पीछे नहीं छूटने देंगे।
  • बीजेपी वाले सपने दिखाना बंद करें। वे उत्तर प्रदेश में अपराध के बारे में झूठ बोलते हैं। उत्तर प्रदेश क्राइम के मामले में देश में 22वें स्थान पर है। बीजेपी वालों को चाहिए वे अपने राज्यों में भी उत्तर प्रदेश की तरह यूपी 100 सेवा शुरू करें।
  • जैसे माता-पिता बच्चे को बुरी नजर से बचने के लिए काला टीका लगाते हैं। उसी तरह हमने भी हर चौराहे पर यूपी -100 की काली गाड़ियां खड़ी की हैं, जिससे यूपी को किसी की बुरी नजर नहीं लगे।

  • समाजवादी सरकार55 लाख गरीब महिलाओं को समाजवादी पेंशन दे रही है। आने वाले समय में हम महिलाओं का सरकारी बसों में किराया आधा करेंगे। महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण भी देंगे और गर्भवती महिलाओं के पोषक भोजन का भी इंतजाम करेंगे।
  • जो लोग मुख्यमंत्री जी पर सवाल उठाते थे,  उनके पास मुख्यमंत्री का एक भी चेहरा ही नहीं है। अब ये आपको तुलना करना है कि किसकी सरकार में काम हुआ है? आप लोग ही प्रदेश के भाग्य विधाता हैं। आपको तय करना है कि यूपी को आगे ले जाना है, या पीछे।

डिंपल यादव की रैली का वीडियो देखें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news