Uttar Hamara logo

किसानों के हमदर्द, युवाओं के आदर्श हैं अखिलेश यादव

10

31 January, 2017

राजनीति करना एक बात है और राजनीति के साथ-साथ आम जनता के विकास के लिए काम करना यह दूसरी बात और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इसी बात में उन नेताओं से अलग नजर आते हैं जो सिर्फ जुमलेबाजी करके या बड़ी-बड़ी बातें करके जनता को भ्रम में रखते हैं लेकिन अखिलेश यादव अपने नई सोच और काम करने के नए तरीकों से हर दिन उत्तर प्रदेश को एक ऊंचाई पर ले जा रहे हैं। अखिलेश यादव अपने काम करने के अंदाज को लेकर न सिर्फ पूरे प्रदेश बल्कि सारे देश में भी बेहद लोकप्रिय हो रहे हैं।

अभी देखिए यमुना एक्सप्रेसवे ओद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में बाबा रामदेव का पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्राइवेट लिमिटेड बनने जा रहा है। अब इस पार्क की खासियत यह होगी कि सबसे पहले तो इस पार्क से पूरे प्रदेश में 16 सौ करोड़ रुपए का निवेश आएगा। जैसा कि आप जानते हैं यदि उद्योग बढ़ेगा, कंपनी लगेगी तो उससे आम जनता को रोजगार भी मिलेगा। पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्राइवेट लिमिटेड के तहत करीब 90000 लोगों को इससे रोजगार मिल पाएगा।

इस पार्क में खेती पर आधारित उत्पाद, खाद्य उत्पाद, हर्बल उत्पाद, दूध के उत्पाद, पशुओं का चारा, दवाइयों की इकाई और रिसर्च सेंटर भी स्थापित किए जाएंगे। इस पार्क में करीब 500 टन फल और सब्जियों से दैनिक प्रयोग में आने वाली तमाम चीजें बनाई जाएंगी जिससे घरेलू उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और इसके साथ ही साथ 90 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार भी।

इस पार्क में जैविक गेहूं का इस्तेमाल करते हुए प्रतिदिन करीब 750 टन आटा भी तैयार किया जाएगा जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर होगा। यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में स्थापित किए जा रहे पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्राइवेट लिमिटेड के स्थापित हो जाने से इस क्षेत्र के आसपास की ऐसी भूमि जो कि कम उपजाऊ है या बंजर है वहां पर ज्वार बाजरा और मोटे अनाज उपजा करके किसानों की आय बढ़ाने की कोशिश की जाएगी। इस पार्क की स्थापना से न सिर्फ खेती के कामों में विविधता आएगी बल्कि हर किसान को इससे अपनी उपज का उचित मूल्य भी प्राप्त हो सकेगा।

इस पार्क में रोजगार पाने वाले तमाम लोगों का कौशल विकास होगा और इतने बड़े पार्क के स्थापित हो जाने से आसपास के छोटे-मोटे व्यापार को भी बहुत बढ़ावा मिलेगा साथ ही साथ खाद्य प्रसंस्करण की आधुनिक तकनीकी से भी स्थानीय लोग वाकिफ हो पाएंगे। इस पार्क का मुख्य उद्देश्य किसानों को बाजार से सीधे तौर पर जोड़ना है जिससे बिचौलियों की वजह से किसानों को नुकसान ना उठाना पड़े।

यह तो रही किसानों के हक की बात दूसरी तरफ यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में बात करें तो अखिलेश सरकार यूपी के बेसिक स्कूलों में आने वाले कुछ दिनों में 30000 शिक्षकों की भर्ती करने जा रही है। इस भर्ती में बीएड और टीईटी पास युवाओं को मौका मिलेगा। कहा जा रहा है कि सरकार की तरफ से शिक्षा विभाग को जिलों में खाली पड़े पद के बारे में ब्यौरा जुटाने के निर्देश दे दिए गए हैं। अब तक के कार्यकाल में अखिलेश सरकार ने करीब ढ़ाई लाख शिक्षकों की नियुक्ति की है। इसमें करीब एक लाख से ज्यादा शिक्षामित्रों का समायोजन भी शामिल है लेकिन अभी भी प्राइमरी और उच्च प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों के 30000 से ज्यादा पद खाली हैं।

कुल मिलाकर के अखिलेश सरकार युवाओं को एक और सुनहरा मौका देकर के उनके भविष्य को उज्जवल बनाने की तरफ अग्रसर है और यह बंपर भर्ती निकालकर उत्तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव में भी अखिलेश यादव ने बढ़त बना ली है। यही वजह है कि अखिलेश यादव को आज के दौर का किसानों का हमदर्द और युवाओं का आदर्श कहा जाता है।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news