Uttar Hamara logo

तरक्की का सफर – आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे

cxxjoswuaaanlsy

21 नवंबर की तारीख उत्तरप्रदेश के इतिहास में दर्ज हो गई है। राज्य को आज 302 किलोमीटर लंबा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे मिल चुका है। इसका उद्घाटन प्रदेश के मुखिया अखिलेश यादव ने किया है। उद्घाटन के मौके पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव भी मौजूद थे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि वो शिलान्यास से ज्यादा उद्घाटन में विश्वास करते हैं। इस कहावत के पीछे दिलचस्प किस्सा है, मुलायम सिंह यादव ने इस एक्सप्रेसवे को बनाने के लिए 2 साल का समय तय किया था। जो तय समय सीमा के भीतर पूरा हो चुका है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने भाषणों और जनसभाओं में अक्सर कहते रहते हैं, अमेरिका ने सड़कें बनाईं और सड़कों ने अमेरिका को बना दिया। इस बात की तह में जाने पर पता चलता है कि अगर राज्य की विकास की गति को तेज करना है तो सबसे पहले वहां की सड़क एवं परिवहन व्यवस्था को दुरुस्त करना होगा। उत्तरप्रदेश में ताजनगरी आगरा और नवाबों के शहर लखनऊ के बीच बना रहा एक्सप्रेस-वे इस फॉर्मूले की साक्षात गवाही है।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे राज्य के 10 जिलों आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, औरैया, कन्नौज, कानपुर नगर, मैनपुरी, हरदोई, उन्नाव और लखनऊ से होकर गुजरेगा। मात्र 22 महीने में तैयार होने वाले एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई 302 किलोमीटर है। यह देश का सबसे लंबा 6- लेन एक्सेस कंट्रोल ग्रीन-फील्ड एक्सप्रेस-वे है। खास बात ये है कि यह एक्सपेंडेबल है, इसे 6 लेन से 8 लेन तक भी किया जा सकता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए एक्सप्रेस-वे के रास्ते में पड़ने वाले सारे पुलों को 8 लेन का बनाया गया है। ताकि भविष्य में जरूरत पड़ने पर इसे बढ़ाया जा सके।

 

भूमि अधिग्रहण का फॉर्मूला बेमिसाल

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लिए मौजूदा सरकार ने जब किसानों से जमीन मांगी तो उनके मन में सिहरन पैदा हो गई। सबको पिछली सरकार की याद आ गई। किसान भाइयों को लगा कि फिर से लाठियां खानी पड़ेगी। लेकिन सरकार ने जब उन्हें उचित मुआवजे के साथ ही एक्सप्रेस-वे से होने वाले फायदों के बारे में बताया तो उनका सारा डर काफूर हो गया। 302 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे के लिए सरकार ने जमीन अधिगृहीत कर ली एक भी विवाद नहीं हुआ। लैंड एक्वायर करने के इस फॉर्मूले को अब तो नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने भी अपना लिया है। साथ ही दूसरे प्रदेश भी इस फॉर्मूले की नकल कर रहे हैं।

 

सस्ते दर पर वर्ल्ड क्लास कंस्ट्रक्शन

302 किलोमीटर लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की कुल निर्माण लागत 9056 करोड़ रूपये है। अगर इसकी तुलना भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा प्रस्तावित ‘लखनऊ-आउटर रिंग-रोड’ के साथ करें तो यह बेहद किफायती साबित होगा। ‘लखनऊ-आउटर रिंग-रोड’ की कुल निर्माण लागत 5214 करोड़ रुपए है। जबकि इसकी लंबाई 94 किलोमीटर है, साथ ही यह महज 4 लेन का ही है। इस हिसाब से देखें तो लखनऊ-आउडर रिंग रोड की प्रति किलोमीटर निर्माण लागत 55 करोड़ रुपए है जबकि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की प्रति किलोमीटर निर्माण लागत महज 30 करोड़ रुपए ही है। भूमि-अधिग्रहण पर खर्च किये गए 2548 करोड़ रूपये को भी जोड़ लिया जाए तो 302 किलोमीटर लम्बे एक्सप्रेस-वे की प्रति किलोमीटर निर्माण लागत 38 करोड़ रुपए है। जोकि राष्ट्रीय राजमार्ग की प्रस्तावित लागत (55 करोड़ रुपए प्रति किलोमीटर) से काफी कम है।

 

मानकों पर खरा है आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के निर्माण लागतों का ऑडिट भारत सरकार की संस्था RITES Ltd. (Rail India Technical and Economic Service) ने किया है। राइट्स लिमिटेड ने जो मानक तय किया है उस पर यह शत-प्रतिशत खरा है। पूरी परियोजना में कुल 900 स्ट्रक्चर्स हैं जिनमें 13 बड़े पुल, 52 छोटे पुल, 4 रेल पुल, 132 फुट-ओवर ब्रिज और 59 अंडर-पास शामिल हैं। परियोजना के सारे टेंडर डब्लूपीआई (Whole Sale Price Index) मानक के अनुरूप हैं जिससे इसकी लागत में और 10% की बचत होने की संभावना है। इसके अलावा 5 साल तक इस सड़क का रख-रखाव भी वही कंपनियां करेंगी जो निर्माण में लगी हैं।

 

यूपी की अर्थव्यवस्था में होगा इजाफा

10 जिलों से होकर गुजरने वाले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के रास्ते में 4 जगहों पर किसान मण्डी बनाई जा रही है। अब यहां के किसानों की उपज यूपी ही नहीं बल्कि देश के दूसरे हिस्सों तक सीधी पहुंचेगी। राहगीरों को राहत देने के साथ ही राज्य के पर्यावरण को बेहतर करने के लिए दोनों तरफ हरियाली और वर्षा जल-संचयन की व्यवस्था की गई है।

 

वृजनन्दन चौबे, गेस्ट राइटर

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news