Uttar Hamara logo

सियासत, सत्ता और सेक्स स्कैंडल: आप, भाजपा और कांग्रेस सब पर लगे हैं दाग

 

politicians-dirty

Image_ indiaopines.com

13 September 2016

आम आदमी पार्टी के मंत्री संदीप कुमार का कथित सेक्स स्कैंडल अभी सियासी गलियारे में कोहराम मचा रहा था कि मध्य प्रदेश के भाजपा के बुर्जुग नेता राघवजी पर नौकर के साथ दुराचार के मामले में आरोप तय होने की खबरें सुर्खियां बटोरने लगीं। हाल ही में ये दाग उन दो पार्टियों पर लगे जो खुद को आदर्शवादी होने की सबसे बड़ी पैरोकार बताती हैं। आम आदमी पार्टी जहां साफ-सुथरी राजनीति का दावा करती है, वहीं भाजपा चरित्रवान पार्टी का तमगा लगाए घुमती है। आम आदमी पार्टी को अभी राजनीति में आए हुए जुमा-जुमा चार दिन हुए हैं, लेकिन सियासत के कई धुरंधर भी जनसेवा का मुखौटा ओढ़े ओछी हरकतें करने से कभी बाज नहीं आए हैं। क्या आम आदमी पार्टी, क्या भाजपा, क्या कांग्रेस। हमाम में सभी नंगे दिखाई देते हैं।

चुनावों में जनता से हमदर्दी और सुख-दुख में हमेशा खड़े रहने का वादा करने वाले ये नेता सत्ता या रसूख के मद में ऐसे चूर हो जाते हैं कि उसी जनता से सामान जैसा बर्ताव करने लगते हैं। महिलाएं और लड़कियां अक्सर इन नेताओं की आसान शिकार रही हैं। पुरानी खबरों की पड़ताल करने में सियासत, सत्ता और सेक्स स्कैंडल की लंबी फेहरिस्त खुलती जाती है।

अभिषेक मनु सिंघवी: बात 2012 की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी की एक कथित सीडी तब बहुत चर्चा में आई थी। सिंघवी तब नए-नए कांग्रेस के राज्यसभा सांसद बने थे और कांग्रेस के प्रवक्ता भी थी। आरोप था उस सीडी वे एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में थे और जो जगह दिखाई जा रही थी उसके बारे में दावा था कि सुप्रीम कोर्ट का चैंबर था। सिंघवी सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता भी हैं। बताया जाता है कि उनके कार चालक ने चोरी-छिपे ये वीडियो बनाई थी।

महिपाल मदेरणा: राजस्थान में कांग्रेस की गहलोत सरकार में मंत्री रहे महिपाल मदेरणा पर भी रेप और मर्डर के आरोप लग चुके हैं। भंवरी देवी कांड ये यह मामला काफी चर्चित हो चुका है। एक वीडियो में दावा किया गया था कि नर्स भंवरी देवी मदेरणा और दूसरे नेताओं के साथ आपत्तिजनक स्थिति में थी। हत्या की पड़ताल हुई तो सामने आया कि भंवरी देवी मदेरणा और अन्य कांग्रेस एमएलए मलखान सिंह को ब्लैकमेल कर रही थी और एक करोड़ रुपये की मांग कर रही थी। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।

संजय जोशीः कभी नरेंद्र मोदी के साथ छत्तीस का आंकड़ा रखने वाले संजय जोशी भी सेक्स स्कैंडल में फंस चुके हैं। उनकी सीडी तब सुर्खियों में आई जब मुंबई में भाजपा का महाधिवेशन चल रहा था। भाजपा में आरएसएस के कभी प्रतिनिधि रहे संजय जोशी को इस कांड के बाद से प्रचारक का पद छोड़ना पड़ा था।

गोपीनाथ मुंडे: भाजपा के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे का नाम भी बेदाग नहीं रहा है। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री रहते मुंडे का नाम पुणे की एक तमाशा नर्तकी बरखा पाटिल के साथ अवैध संबंधों को लेकर खूब उछला था। मुंडे ने अपने सरकारी रसूख का इस्तेमाल कर बरखा को पुणे में बाजार दर की तुलना में बेहद सस्ता फ्लैट दिलवाया था। रोचक बात यह है कि जब यह मामला सामने आया था तब भरी सभा में बाला साहेब ठाकरे ने मुंडे को नसीहत भी दे दी थी कि ‘प्यार किया तो डरना क्या’। हालांकि मुंडे इससे हमेशा इन्कार करते रहे।

पीके कुन्हलिकुट्टी: 1987 में केरल में आइसक्रीम पार्लर सेक्स स्कैंडल बहुत ही कुख्यात हुआ था। कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ सरकार में उद्योग मंत्री रहे पीके कुन्हलिकुट्टी का इसमें नाम आया था। आरोप था कि कोझीकोण में एक आइसक्रीम पार्लर की आड़ में देह व्यापार चलता था। इसमें मंत्री की मिलीभगत थी। मामला खुला तो कुन्हलिकुट्टी को पद छोड़ना पड़ा लेकिन चार्जशीट में उनका नाम नहीं आया।

जलगांव रेप कांड: महाराष्ट्र के जलगांव में हाईप्रोफाइल रेप कांड में भी कई नेताओं के दामन दागदार हो चुके है। यहां कई बड़े-बड़े नेता, अधिकारी और कारोबारी करीब 500 महिलाओं और नाबालिग बच्चियों को बंधक बनाकर उनसे जबरन देह व्यापार कराते थे। यह गिरोह स्कूल, काॅलेज जाने वाली लड़कियों को अपने झांसे में फंसाकर उनका रेप करता था, फिर वीडियो बनाकर उन्हें देह व्यापार के लिए ब्लैकमेल करता था। मामला उजागर हुआ तो कांग्रेस के दो नेताओं के नाम भी सामने आए, लेकिन बाद में सबूतों के अभाव में उन्हें छोड़ दिया गया।

हरक सिंह रावत: उत्तराखंड में हाल में मचे सियासी बवंडर के बाद कांग्रेस से भाजपा में गए हरक सिंह रावत अछूते नहीं रहे हैं। 2003 में जब वे उत्तरांचल में राजस्व मंत्री थे, तब जेनी नाम की एक असमी महिला ने उन पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाया था। इंदिरा देवरी उर्फ जेनी नाम की इस महिला ने अपने नवजात बच्चे का पिता रावत को बता कर तहलका मचा दिया था। हालांकि बाद में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट ने रिपोर्ट दाखिल कर बताया कि बच्ची की डीएनए रिपोर्ट रावत से मेल नहीं खाती है और मामला रफा-दफा हो गया।

लिस्ट यही खत्म नहीं होती है। अरसे पहले जगजीवन राम के बेटे सुरेश राम के अपत्तिजनक तस्वीरे एक मैगजीन में आई थीं। तो धु्रवनारायण सिंह, बाबूलाल नागर, गोपाल कांडा जैसे तमाम नेताओं के सेक्स टेप भी समय-समय पर राजनीति गलियारों में हंगामा मचाते रहे हैं।

उत्तर हमारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttar Hamara

Uttar Hamara

Uttar Hamara, a place where we share latest news, engaging stories, and everything that creates ‘views’. Read along with us as we discover ‘Uttar Hamara’

Related news